पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • This Time Small Fish Are Less In Beas, Turtles Gathering Fat By Eating Insects On Islands In Harike Before The Breeding Season

मानसून में 13% कम बारिश का असर इन पर भी:ब्यास में इस बार छोटी मछलियां कम, ब्रीडिंग सीजन से पहले हरिके में टापुओं पर कीड़े खाकर चर्बी जमा कर रहे कछुए

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिन का तापमान 36 तो रात का पारा 24 से 26 डिग्री के बीच चल रहा है
  • कम बरसात से इस बार दरियाओं में भी नहींं आया पूरा पानी

पंजाब में हफ्तेभर से बारिश नहीं हो रही और मानसून सीजन के बावजूद आसमान से बादल गायब हैं। दिन का तापमान 36 तो रात का पारा 24 से 26 डिग्री के बीच चल रहा है। कम बरसात से इस बार दरियाओं में भी पूरा पानी नहींं आया। पंजाब में 19 सितंबर तक 443.8 एमएम बारिश होनी चाहिए मगर इस बार महज 387 एमएम पानी बरसा जो सामान्य से 13% कम है।

अमृतसर की बात करें तो यहां 19 सितंबर तक 485.5 एमएम बरसात होनी थी मगर इस बार सिर्फ 380.9 एमएम बारिश हुई। यह सामान्य से 22% कम है। मौसम विभाग के अनुसार, 20 से 25 सितंबर के बीच प्रदेश से मानसून विदाई लेगा। पिछले साल ज्यादा बारिश के चलते ब्यास व सतलुज दरिया में बाढ़ आ गई थी और हरिके बैराज के गेट खोलने पड़ गए थे मगर इस बार बैराज की डाउनस्ट्रीम में नाममात्र का पानी है।

कछुओं का ब्रीडिंग टाइम अक्टूबर से मार्च तक

हरिके बर्ड सेंक्चुरी में रेत के सूखे टापुओं पर इन दिनों बड़ी संख्या में कछुए नजर आ रहे हैं। वन विभाग के रिटायर्ड डीएफओ बलबीर सिंह के अनुसार, सामान्यत: कछुए पेट भरने के बाद बॉडी टेंपरेचर बैंलेंस करने के लिए धूप सेंकते हैं। दरिया में पानी कम हो जाने पर जब छोटी मछलियां नहीं मिलती तब भी कछुए कीड़े-मकौड़े खाने के लिए पानी से बाहर आ जाते हैं। अक्टूबर से मार्च तक कछुओं का ब्रीडिंग टाइम होता है और सर्दी के मौसम में ये शीतनिद्रा में चले जाते हैं। ब्रीडिंग टाइम और शीतनिद्रा में जाने से पहले कछुए शरीर में जरूरी चर्बी जमा कर लेते हैं।

हरिके में 7 प्रजातियां

हरिके बर्ड सेंक्चुरी में कछुओं की 7 प्रजातियां पाई जाती हैं। इनमें इंडियन रूफेड टर्टल, इंडियन सॉफ्टशैल टर्टल, स्पॉटेड पौंड टर्टल और इंडियन फ्लैपशेल टर्टल प्रमुख हैं। इन प्रजातियों के कछुओं के शरीर पर कवच का रंग सुनहरा होता है।

शिकार पर बैन, 7 साल तक की सजा : रेंज अफसर

वन विभाग के रेंज अफसर कमलजीत सिंह ने बताया कि बर्ड सेंक्चुरी में जलीय जीवों की सुरक्षा के लिए कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कछुओं के शिकार पर पाबंदी है। अगर कोई इनका शिकार करता पकड़ा जाता है तो उसे तीन से 7 साल तक की कैद और जुर्माने का प्रावधान है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें