कोरोना इफैक्ट / घर बैठे बेरोजगारों को मिलेगी नौकरी ऑनलाइन ही इंटरव्यू लेंगी कंपनियां

X

  • लॉकडाउन के 2 माह में 10 हजार युवाओं को नहीं मिल सका रोजगार

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:40 AM IST

अमृतसर. पंजाब सरकार की घर-घर रोजगार योजना बेरोजगार युवाओं के लिए हमेशा ही वरदान रही है। कोरोना महामारी ने नौकरियों के लिए संकट खड़ा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

जिला रोजगार ब्यूरो कार्यालय युवाओं का रजिस्ट्रेशन कराने के साथ ही उनको ट्रेनिंग देकर प्राइवेट कंपनियों के साथ इंटरव्यू ऑर्गनाइज कराकर रोजगार दिलाने का काम करता था। सरकार की योजनाएं प्रभावित होने के कारण दो महीनों में ही 10 से 15 हजार कंडीडेट की नौकरियां प्रभावित हुई हैं। यही नहीं स्थिति आगे भी महीनों तक सुधरते नहीं दिख रही जिससे छात्रों को बुलवाकर ट्रेनिंग पूरी कराई जाए और प्लेसमेंट कैंप ऑर्गनाइज हो।

प्लेसमेंट कैंपों में हर हफ्ते साक्षात्कार के बाद 50 से 60 कंडीडेट को अलग-अलग कंपनियों में जॉब मिल जाती थी। यानि कि हर महीने 200 से 300 युवाओं को ब्यूरो कार्यालय नौकरी दिलवा रहा था। जबकि मेगा कैंपों में एकसाथ 5 से 6 हजार युवाओं को नौकरी मिलती रही है।

पिछले साल सितंबर में सरकार की ओर से आयोजित कराए गए मेगा कैंप में 5332 युवाओं को जॉब मिली थी। इस तरह के कैंप साल में दो बार आयोजित कराए जाते थे, लेकिन कोरोना की वजह से मार्च में आयोजित होने वाला मेगा कैंप जिसमें 700 ग्रेजुएट युवाओं को नौकरी मिलनी थी।

रोजगार ब्यूरो कार्यालय का 200 बड़ी कंपनियों से टाइअप है, जो हर हफ्ते बेरोजगारों का कॅरियर संवारती थी। इसके साथ ही बड़ी संख्या में युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए मेगा कैंप कराने का प्लान भी तैयार किया गया था जिससे 5 हजार से अधिक युवाओं को नौकरियां मिल सके। वहीं, पंजाब स्किल डेवलपमेंट के तहत युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए भी 14 सेंटर चल रहे हैं। जिनसे एक महीने में औसतन 90 कंडीडेट को नौकरियां प्लेसमेंट कैंप बुलाने के बाद जॉब मिल जाती हैं। यानि की एक महीने में सभी सेंटरों से 1200 और दो महीने में 2400 नौकरियां प्रभावित हुई हैं। 

हालांकि, सरकार के निर्देश पर अफसरों ने ऑनलाइन सिस्टम से ही कंडीडेट की काउंसिलिंग और नौकरी के लिए तैयारियां कराने का निर्देश दिया है। जिससे जल्द ही कोरोना संकट से बाहर निकल आने की संभावनाएं भी दिखाई देने लगी हैं।

कंपनियों में नौकरी दिलाने को नया प्लान

कोरोना के कारण कई कंपनियों ने छंटनी और नई जॉब देने से इंकार कर दिया है। लेकिन प्रशासनिक अफसर और प्राइवेट कंपनियों के अधिकारी कार्यालय नहीं खुलने पर भी रोजगार उपलब्ध कराने के नए अवसर  उपलब्ध हो सके इसके लिए नया प्लान भी तैयार कर रहे हैं।

सूत्रों की माने तो जल्द ही इस पर काम भी  शुरु हो जाएगा और जिस तरह कंडीडेट को ऑनलाइन करियर संबंधित हेल्पलाइन नंबर और वेबसाइट्स जारी कर तैयारी करने की सुविधा दी गई है। उसी तरह से ऑनलाइन इंटरव्यू  प्लेसमेंट कैंप के तौर पर ऑर्गनाइज कराया जाएगा और घर बैठे ही कंडीडेट को नौकरी भी उपलब्ध कराई जाएगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना