अमृतसर में अतिक्रमण हटाने पर हंगामा:हेरिटेज स्ट्रीट से सामान उठाने पर मुलाजिमों से भिड़े दुकानदार, रुमाला साहिब की बेअदबी का आरोप

मजीठा (अमृतसर)5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निगम कर्मचारियों से उलझते दुकानदारा। - Dainik Bhaskar
निगम कर्मचारियों से उलझते दुकानदारा।

पंजाब के अमृतसर में श्री दरबार साहिब को जाने वाली हेरिटेज स्ट्रीट पर अतिक्रमण हटाने गई नगर निगम की टीम के साथ दुकानदार भिड़ गए। दुकानदारों का आरोप है कि निगम मुलाजिमों ने वहां रुमाला साहिब की बेअदबी की है। वहीं निगम मुलाजिमों के मुताबिक दुकानदारों ने गाड़ी तोड़ी और चाबी निकाल ली। उन्होंने जितना सामान उठाकर गाड़ी में भरा, लोगों नें चढ़कर सारा सामान निकाल लिया।

शनिवार की सुबह तकरीबन 11 बजे अमृतसर की हेरिटेज स्ट्रीट पर नगर निगम इंस्पेक्टर राज कुमार की निगरानी में टीम अवैध कब्जे हटाने पहुंची। नगर निगम मुलाजिमों ने तकरीबन आधे घंटे के अंदर सड़कों पर लगा सामान उठाकर गाड़ी में भर लिया। लोगों के मुताबिक, इसी सामान को उठाने की खींच-तान में एक रेहड़ी पर लगे रुमाला साहिब नीचे गिर गए, जिन पर निगम मुलाजिमों ने पैर रखकर उनकी बेअदबी की।

सामान उठाने पर कर्मचारियों को रोकता दुकानदार।
सामान उठाने पर कर्मचारियों को रोकता दुकानदार।

उसके बाद लोग भड़क गए। नगर निगम मुलाजिमों के मुताबिक लोगों ने उनकी गाड़ी को तोड़ा, चाबी निकाल ली और सारा सामान भी वापस उतार लिया। वहीं लोगों को कहना है कि निगम मुलाजिम पहले खुद ही पैसे लेकर अवैध कब्जे करवाते हैं और फिर गुंडागर्दी करते हैं।

प्रधान के मुताबिक- पब्लिक ने किया सब

इस सारे मामले में मार्केट के भोला प्रधान और उनके बेटे पर निगम मुलाजिमों की ओर से तलवारें चलाने का आरोप लगाया जा रहा है। वहीं भोला प्रधान का कहना है कि उन्होंने कुछ नहीं किया। जो भी किया गया आम पब्लिक की ओर से उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए किया गया। उन्होंने कहा कि वह पिछले 70 सालों से यहां बैठे है और निगम निगम नाजायज गुंडागर्दी करके उनसे रिश्वत लेना चाहती है।

निगम मुलाजिमों ने की रुमाला साहिब की बेअदबी

ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट जत्थेबंदक सचिव बलजिंदर सिंह का कहना है कि निगम मुलाजिमों की ओर से रुमाला साहिब को नीचे फेंका गया और उस पर पैर रखे गए। जिससे उनकी बेअदबी हुई है। उन्होंने कहा कि नगर निगम वाले पहले तो पैसे लेते हैं और फिर तंग करते हैं। आज भी उन्होंने गलत किया है। उन्होंने कहा कि उनकी कोई पर्सनल दुश्मनी नहीं है और वह इंसाफ चाहते हैं। पहले से ही पंजाब में हर रोज कुछ न कुछ हो रहा है और उस पर ऐसी कार्रवाई माहौल को और खराब कर रही है।

दुकानदारों ने की तोड़फोड़

निगम ड्राइवर राजविंदर सिंह नोना का कहना है कि वो अपना काम कर रहे थे, लेकिन दुकानदारों ने उन पर तलवारों से हमला किया और उनकी गाड़ी के साथ भी तोड़फोड़ की। फिर दुकानदार गाड़ी पर चढ़ गए और सामान उतार लिया। यही नहीं उनकी गाड़ी की चाबी भी उतार ली।

लिखित देंगे तो बनती कार्रवाई होगी

पुलिस मुलाजिमों का कहना है कि यहां रेहड़ियां लगी थीं। प्रशासन की ओर से उन्हें हटाया गया, जिसमें रुमाला साहिब थे जो कि गिर गए। अब लिखित शिकायत के बाद जो भी बनती कार्रवाई होगी वह की जाएगी।

निगम ने दी दुकानदारों के खिलाफ शिकायत

एस्टेट ऑफिसर धर्मिंदर जीत सिंह ने बताया कि जिन दुकानदारों ने मुलाजिमों पर हमला किया है उन पर कार्रवाई के लिए शिकायत दी जा रही है। उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अतिक्रमण हटाने की अपील

कुछ दिन पहले ही अमृतसर के सांसद गुरजीत सिंह औजला और एसजीपीसी के प्रधान हरजिंदर सिंह धामी की ओर से हेरिटेज स्ट्रीट पर से अतिक्रमण हटाने की मांग की गई थी। धामी की ओर से नगर निगम कमिश्नर संदीप रिषी के समक्ष मांग रखी गई थी तो औजला की ओर से सीएम भगवंत मान को चिट्‌ठी लिखकर यहां से अवैध कब्जे हटाने और एमपी लैड के फंड्स भी इसी देख रेख के लिए प्रयोग करने की अपील की थी।