पंजाब-दिल्ली के एजुकेशन मॉडल पर घमासान:सिसोदिया बोले- परगट सिंह की 250 स्कूलों की लिस्ट का इंतजार, पंजाब में शिक्षा का स्तर नीचे गिरा

अमृतसर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया। - Dainik Bhaskar
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया।

विधानसभा चुनाव से पहले पंजाब और दिल्ली के एजुकेशन मॉडल पर घमासान मच गया है। आज अमृतसर में श्री गुरु रामदास इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचने के बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पंजाब के शिक्षा मंत्री परगट सिंह को एक बार फिर निशाने पर लिया। सिसोदिया ने कहा कि उनकी लिस्ट तैयार हो चुकी है। अब उन्हें पंजाब के 250 स्कूलों की लिस्ट का इंतजार है।

अमृतसर एयरपोर्ट पर मनीष सिसोदिया का स्वागत करते हुए आप कार्यकर्ता।
अमृतसर एयरपोर्ट पर मनीष सिसोदिया का स्वागत करते हुए आप कार्यकर्ता।

मनीष सिसोदिया आज एक सप्ताह बाद फिर श्री गुरु रामदास इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंड हुए। उनके समर्थक पहले ही एयरपोर्ट के बाहर उनके इंतजार में खड़े थे। आज वह फिरोजपुर में जनसभा के लिए निकल रहे हैं, जहां वह व्यापारियों से बातचीत करेंगे। सिसोदिया ने कहा कि पंजाब में व्यापारी कांग्रेस से काफी निराश है। उन्हें आज फिर व्यापारियों ने बुलाया है और फिरोजपुर वह उन्हीं से मिलने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब में उनकी सरकार आने के बाद वह दिल्ली मॉडल को यहां लागू करेंगे, ताकि पंजाब का व्यापारी भी ग्रोथ कर सके।

बोले- पंजाब में शिक्षा का स्तर नीचे गिरा

इस दौरान उन्होंने कहा कि उनकी लिस्ट तैयार हो चुकी है। अब उन्हें पंजाब के 250 स्कूलों की लिस्ट का इंतजार है। ताकि दोनों राज्यों में मंत्री परगट सिंह आ सकें और स्कूलों का दौरा कर सकें। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि किस राज्य में शिक्षा प्रणाली में ग्रोथ हुई है। उन्होनें कहा कि कांग्रेस सरकार के समय पंजाब में शिक्षा का स्तर नीचे गिरा है। वहीं उन्होंने खुशी जाहिर की कि आज आम आदमी पार्टी की वजह से शिक्षा और सेहत पर राजनीति हो रही है।

गौरतलब है कि मनीष सिसोदिया और परगट सिंह की पंजाब के स्कूलों को लेकर तीखी तकरार चल रही है। मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर ही परगट सिंह से 250 स्कूलों की लिस्ट को शेयर करने की मांग की थी, ताकि स्कूलों का मूल्यांकन किया जा सके।

खबरें और भी हैं...