शब्दों की मर्यादा भूले सिद्धू:बोले- कैप्टन के साथ तो उनकी पत्नी ही खड़ी नहीं हुई, और कौन साथ देगा; रेत माफिया को भी नहीं रोका

अमृतसरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

सियासत करते-करते नवजोत सिंह सिद्धू शब्दों की मर्यादा भी भूलने लगे हैं। उन्होंने बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर ऐसा तंज कसा कि शब्दों की मर्यादा भंग हो गई। अमृतसर राम तलाई मंदिर के कामों का उद्घाटन करने पहुंचे सिद्धू ने कह डाला कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ तो उनकी पत्नी भी नहीं खड़ी हुई। उनके साथ और कौन खड़ा होगा।

कैप्टन ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया है, कोई परनीत कौर से पूछो, क्या वह कांग्रेस से इस्तीफा देंगी। वहीं उन्होंने रेत माफिया के नाम पर कैप्टन को बुजदिल भी कह दिया। सिद्धू ने कहा कि जिनके इशारों पर अमृतसर के काम रुके, वे आज धूल में मिले हुए हैं। उन्होंने कभी शिकायत नहीं की, पांच बार जीता हुआ शिकायत नहीं करता, शिकस्त देता है।

आज अमृतसर के लोगों को तय करना होगा कि उन्हें बातें करने वालों के साथ खड़ा होना है या पंजाब के लिए खड़े होने वाले के साथ खड़ा होना है। सिद्धू को कई बार पंजाब से दूर करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने हमेशा ही पंजाब को चुना है। मैंने पहले दिन से पंजाब के खजाने को भरने के लिए लड़ाई शुरू कर दी थी।

ये बुजदिली है... वह बुजदिल था
पहले दिन से बोला था कि रेत का रेट फिक्स कर दो, काला बाजारी रुक जाएगी। कैप्टन ने सीएम रहते हुए इस बात को नहीं माना। बाहर से आने वाले ट्रकों से 5 हजार रुपए लिए जाते हैं, लेकिन खजाने में नहीं जाते, रेत माफिया को मिलते हैं। ऐसे खजाने नहीं भरे जा सकते। आज कैप्टन रेत माफिया की बात कर रहे हैं। अगर उन्हें पता था और वे चुप क्यों थे। ये बुजदिली है... वह बुजदिल था।

शिवलिंग के समक्ष नतमस्तक होते हुए सिद्धू।
शिवलिंग के समक्ष नतमस्तक होते हुए सिद्धू।

राजा वड़िंग ने 50 लाख कमा कर दिखाए हैं, 50 करोड़ भी कमा कर देंगे
सिद्धू ने राजा वड़िंग की तारीफ करते हुए कहा कि दूसरे राज्य 2.50 करोड़ से मुनाफे को 50 करोड़ कर रहे हैं। राजा ने एक ही दिन में 50 लाख कमाकर दिखा दिए हैं और जल्द ही 50 करोड़ भी कमा कर दिखाएंगे। दूसरे राज्य तरक्की कर रहे हैं, क्योंकि वहां ईमानदारी है। उन्होंने बादल के ट्रांसपोर्ट के बारे में कहा कि उनके राज में दो बसों से ट्रांसपोर्ट माफिया खड़ा हो गया है।

सिद्धू पंजाब के मुद्दों के साथ खड़ा है
सिद्धू ने कहा कि वह पंजाब के मुद्दों के साथ खड़े हैं। एक समय कहा गया था, सिद्धू के लिए दरवाजे बंद। आज सबको पता है कि दरवाजे किस के लिए बंद हैं। सिद्धू को हराने की बात करते हैं, सिद्धू पूरी स्टेट जीत कर दिखाएगा। उन्होंने कहा कि खजाना बनाने के लिए नीतियां बनाने की जरूरत है। सैंड नीति और शराब नीति बनाओ, खजाने भरने लगेंगे।

MLA को काम करवाने के लिए चंडीगढ़ जाने की जरूरत नहीं
सिद्धू ने कहा कि कैप्टन राज में विधायकों को जलील किया गया। उनके काम नहीं होते थे, लेकिन अब उन्होंने प्रपोजल दिया है और उसे हरीश चौधरी व सीएम चन्नी ने मान लिया है। सभी विधायक अपने हलकों में रहेंगे। सीएम चन्नी ऑफिस के साथ 5 से 7 लोग जोड़े जाएंगे। ये सीएम चन्नी के ऑफिस में बैठें या पार्टी ऑफिस में, इससे फर्क नहीं पड़ता।

विधायक अपने हलकों में बैठ कर ही फोन पर काम करवाएंगे। हर मुद्दे को हम अब प्रायोरिटी के आधार पर हल करवाएंगे, ताकि अगले चुनाव तक हम लोगों के पास जा सकें।

खबरें और भी हैं...