पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Without Electricity, The Roofs Blow Up In The Storm, Then In The Rainy Earthen Houses, Food Is Made In The Earthen Stove Under The Open Sky

यहां 50 सालों से झुग्गियों में रह रहे 40 परिवार:बिजली न पानी, आंधी में छतें उड़ जाती हैं तो बरसात में ढह जाते मिट्‌टी के घर, खुले आसमान के नीचे मिट्टी के चूल्हे में बनता है खाना

अजनाला7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रमदास में झुग्गी-झोंपड़ियों के बाहर अपनी व्यथा सुनाते गरीब परिवार।
  • आजादी के सात दशक बीतने के बाद भी झुग्गियों में रहने को मजबूर 40 परिवार
  • रमदास में 50 साल से रह रहे परिवार, वोटर-राशन कार्ड बने, लेकिन मुलभूत सुविधाएं नहीं

देश को आजाद हुए 73 साल से ज्यादा हो गए हैं, पर आज के समय में ऐसे भी परिवार हैं जो बदतर जिंदगी जीने को मजबूर हैं। इसका उदाहरण अजनाला के सीमावर्ती कस्बा रमदास में देखने को मिला है, जहां पर 50 साल से करीब 40 परिवार मिट्टी की झुग्गी-झोंपड़ियों में रह रहे हैं। इन परिवारों की आर्थिक स्थिति इतनी कमजोर है कि खुद का अपना घर नहीं बना सकते हैं। हैरानी वाली बात यह है कि आज भी ये परिवार खुले आसमान के नीचे चूल्हे में खाना बनाते हैं और दिहाड़ी-मजदूरी करके परिवार का पालन-पोषण कर रहे हैं।

राशन कार्ड और वोटर कार्ड बने पर मूलभूत सुविधाएं नहीं
इन परिवारों के शरान कार्ड और वोटर कार्ड भी यहीं के हैं, पर मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं। बिजली और पीने वाले पानी का तो कोई प्रबंध ही नहीं है। नेता लोग आते हैं और सुविधाएं मुहैया करवाने का भरोसा देकर चले जाते हैं। कई सरकारें आईं और गईं, पर किसी ने अब तक इन लोगों की ओर देखा तक नहीं।

मदन लाल, अभी, मुक्खा सिंह, असलम, सन्नी कुमार, महिंदर सिंह, रफीक और शम्मी ने बताया कि वह कई साल से रमदास में ही रह रहे हैं और उनकी पहली पीढ़ी भी यहां रहती थी। किसी भी सरकार से अभी तक कोई सुविधा नहीं मिली है। नेता लोग वोट मांगने आते, लेकिन बाद में कोई नहीं पूछता है।

गरीब परिवार बाेले- चुनाव के समय नेता लोग वोट मांगने आते हैं, बाद में कोई नहीं पूछता
महिलाओं ने कहा कि कई वर्षों से दुनिया बदल गई, लेकिन वह वहां के वहां ही हैं और बुनियादी सुविधाओं से वंचित हैं। उनका भी दिल करता है कि पक्के घरों में रहें, लेकिन मजबूर हैं। आम दिनों में तो ज्यादा मुश्किल नहीं होती, लेकिन बरसातों में तो जीना मुश्किल हो जाता है। घरों में सांप और जहरीले कीड़े घुस जाते हैं और मिट्‌टी के ढह भी जाते हैं। अगर तेज आंधी आए तो घरों की छतें भी उड़ जाती हैं। उन्होंने सरकार से मांग की कि उन्हें रहने के लिए जगह का प्रावधान किया जाए ताकि बच्चों का भविष्य उज्ज्वल हो सके।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें