पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • Women Employees Will Be Stationed In Plain Uniform In Public Places, Public Transport, School colleges And Intersections.

अब मनचलों की खैर नहीं:सादी वर्दी में सार्वजनिक जगहों, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, स्कूल-काॅलेजों और चौराहों पर महिला मुलाजिम रहेंगी तैनात

अमृतसर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पुलिस कमिश्नर विक्रम जीत दुग्गल महिलाओं की सुरक्षा के लिए शहर के 20 थानों में शक्ति टीमें गठित की हैं। महिलाओं के साथ ईज टीजिंग-क्राइम रोकने के लिए यह टीमें बनाई गई हैं। जिसमें महिला मुलाजिम सादी वर्दी में सार्वजनिक जगहों, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, स्कूल-कालेजों, चौराहों में तैनात रहेंगी। महिलाओं की हेरासमेंट से जुड़ी शिकायतों को लेकर चिह्नित किए गए हाॅट स्पाॅट्स पर यह शक्ति टीमें नजर रखेंगी।

हरेक थाने में गठित मोबाइल टीम में 2 महिला अधिकारी और 1 पुरुष अधिकारी होगा। इनके पास स्पाई कैम होंगे, ऐसी हरकत क्राइम का एविडेंस कलेक्ट किया जाएगा। मंगलवार को पुलिस कमिश्नर ने हरि झंडी दिखा इन टीमों को रवाना करेंगी।

जरूरत पर क्रिमिनल केस भी दर्ज होगा ... पुलिस कमिश्नर ने कहा कि जरूरत पड़ने पर क्रिमिनल केस भी दर्ज होंगे। प्रिवेंटिव एक्शन या संबंधित की उसके परिजनों के सामने काउंसलिंग भी की जाएगी। वुमन सेफ्टी आफिसर स्कूलों-काॅलेजों में जागरुकता के लिए सेमिनार भी करेंगे। जिसमें लड़कियों को उनके हकों के बारे में जागरूक किया जाएगा।

मदद के लिए 97811-01091 पर करें कॉल
सीपी ने कहा कि ज्वाइंट कमिश्नर डी सुदरविली और एसीपी साइबर क्राइम मनप्रीत शीमार वुमन सेफ्टी के लिए सराहनीय काम कर रही हैं। महिलाओं की मदद के लिए 97811-01091 हेल्पलाइन नंबर लांच किया है। जहां शिकायत करने पर मदद पहुंचाई जाएगी। रात में महिला को टैक्सी सुविधा न मिले तो महिला पुलिस पिकअप ड्राॅप सुविधा के तहत उन्हें सेफली उनके घर भी पहुंचाएंगी।

खतरा महसूस हो तो करें मैसेज... किसी लेडीज को लग रहा कि उसे खतरा महसूस हो रहा तो व्हाट्सएप नंबर मैसेज कर सकती है। 181 पर भी मुश्किल बता सकते हैं। सीपी के मुताबिक हेल्पलाइन की हर काॅल, मैसेज और वीडियो को रजिस्टर्ड करके फाॅलो किया जाएगा। पीसीआर गाड़ियों में जीपीएस सुविधा भी दी जा रही है।

खबरें और भी हैं...