पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

क्राइम:एकतरफा प्यार में प्रेमी ने 2 साथियों के साथ प्रेमिका के पिता एसजीपीसीकर्मी को मारा था

तरनतारन12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2 आरोपी गिरफ्तार, जून 2019 में गांव बचड़े में गोलियां मारी थीं
  • मृतक की बेटी को चाहता था एक आरोपी, दूसरा एएसआई का बेटा

जून 2019 में तरनतारन के थाना सिटी अंतर्गत गांव बचड़े के पास गोलियों से छलनी किए गए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुलाजिम गुरमेज सिंह की हत्या के मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक फरार है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान जशनप्रीत सिंह उर्फ जश्न निवासी गांव नूरदी और अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श बाबा निवासी पुलिस क्वार्टर तरनतारन, जबकि तीसरा आरोपी अमृतपाल सिंह निवासी गांव बचड़े, जिसका वर्तमान पता खरड़ है, अभी फरार है। अर्शदीप तरनतारन में तैनात एएसआई का बेटा है।

इनसे 32 बोर देसी पिस्तौल, 5 जिंदा कारतूस और 1 मोबाइल बरामद हुआ है। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के एसपी महताब सिंह और डीएसपी कमलजीत सिंह औलख ने इन लोगों को दबोचा है। इनका तीसरा साथी अमृतपाल अभी फरार है। तरनतारन के एसएसपी ध्रुमन निंबले का कहना है कि तफ्तीश के दौरान पता चला कि आरोपी जशनप्रीत सिंह मृतक गुरमेज सिंह की बेटी को एकतरफा प्यार करता था।

वह उसकी क्लास में ही पढ़ती थी। उसे शादी के लिए कहता था। गुरमेज सिंह और उसके भांजे ने आरोपी जशनप्रीत की पिटाई भी की थी, इसी रंजिश में आरोपी ने साथियों के साथ मिलकर गुरमेज सिंह की हत्या की थी।

गौर हो कि नूरदी अड्डा नई सरां स्थित एसजीपीसी क्वार्टर में रहने वाले एसजीपीसी मुलाजिम गुरमेज सिंह 25 जून, 2019 को रात 10 बजे अपनी बाइक पर अपनी बहन सुखविंदर कौर के घर गांव अलावलपुर में प्रतिदिन की तरह दूध लेने जा रहा था। इसी दौरान गांव बचड़े के पास तीनों आरोपियों ने उसे घेर लिया और पीठ पर गोली मारकर हत्या कर दी।

इस संबंध में थाना सिटी तरनतारन पुलिस ने उस वक्त अज्ञात आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था। गुरमेज सिंह मूल रूप से गांव जमालपुर के रहने वाले थे, मगर 2019 में वह नूरदी अड्डा में रहते थे। तरनतारन पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद मंगलवार को अदालत में पेश किया, जहां से 3 दिन का रिमांड मिला है। पुलिस की फरार आरोपी को पकड़ने के लिए छापेमारी जारी है।

जश्न को अर्श ने दिलाया था रिवॉल्वर...

गुरमेज सिंह की हत्या का केस थाना सिटी में दर्ज हुआ था। इसी थाने में तैनात एएसआई कर्म सिंह का बेटे अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श इस मामले में गिरफ्तार किया है। अर्श ने अपने दोस्त अमृतपाल सिंह निवासी बचड़े के कहने पर जश्नप्रीत सिंह उर्फ जश्न को रिवॉल्वर मुहैया करवाया था। इस रिवाल्वर का एएसआई कर्म सिंह के साथ तो कोई वास्ता नहीं, यह भी जांच की जा रही है।

हत्या करते समय नाबालिग था आरोपी जश्न

जब गुरमेज सिंह की हत्या की गई तो उस समय मुख्य आरोपी जश्नप्रीत सिंह की उम्र 17 वर्ष थी। उसके दो साथी अमृतपाल सिंह और अर्शदीप सिंह 19 से 20 साल के थे। एसएसपी ने बताया कि अमृतपाल सिंह निवासी गांव बचड़े की गिरफ्तारी के लिए दबिश जारी है। उन्होंने बताया कि हत्या के मामले को ट्रेस करने के लिए पौने दो वर्ष का समय लगा, परंतु पुलिस नहीं चाहती थी कि किसी बेगुनाह को परेशान किया जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें