प्रदेश स्तरीय समिति की बैठक:जमीनों पर कब्जे के विरोध में धरना लगाने का किया फैसला

बरनाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) की प्रदेश स्तरीय समिति की बैठक जोगिंदर सिंह उगराहां की अध्यक्षता में हुई। बैठक में भारतमाला हाईवे प्रोजेक्ट के लिए किसानों की जमीनों पर जबरन कब्जा करने को लेकर पंजाब पुलिस के खिलाफ पथराला (बठिंडा) और कोटगा (लुधियाना) में स्थायी धरने लगाने का फैसला किया गया। इसके अंतर्गत 29 जून को बड़ा विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया है।

इस संबंधी जानकारी देते हुए संगठन के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरी कलां ने बताया कि इन जमीनों के मालिक किसानों को न्याय दिलाने के लिए पंजाब सरकार की चुप्पी को तोड़ना जरूरी है। 25 जून को पुलिस की कार्रवाई पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक सड़कों को जाम करके प्रदर्शन किए गए थे, पर पंजाब सरकार इस मामले में चुप्प है।

संगठन के नेता झंडा सिंह जेठुके, शिंगारा सिंह मान, हरदीप सिंह तालेवाल और रूप सिंह छन्ना ने कहा कि जब तक किसानों की सहमति के साथ जमीनों के पूरे रेट का भुगतान नहीं हो जाता, तब तक हाईवे के निर्माण को रोकने के लिए किसानों का स्थायी धरना दिन-रात जारी रहेगा। उन्होंने गंभीर रूप से घायल किसानों का मुफ्त इलाज और काम के नुकसान के लिए 2 लाख रुपए का मुआवजे देने की मांग की।

खबरें और भी हैं...