लोकसभा उपचुनाव 2022:मान समर्थकों ने मनाया जश्न, मूसेवाला के गीतों पर झूमे

बरनाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरनाला में ट्रैक्टर के पीछे बांधकर झाड़ू को खींचते हुए लोग। - Dainik Bhaskar
बरनाला में ट्रैक्टर के पीछे बांधकर झाड़ू को खींचते हुए लोग।

संगरूर लोकसभा उपचुनाव में शिरोमणि अकाली दल मान के प्रधान व उपचुनाव के प्रत्याशी सिमरनजीत सिंह मान की जीत के बाद मान समर्थकों ने आतिशबाजी चलाकर और ढोल की थाप पर भंगड़ा डालकर जश्न मनाया। सिद्धू मूसेवाले के गीत 22-22 कहंदी दुनिया, असी तुपका नी दींदे, पंजाब केहदे आ चलाकर शहर में विजय मार्च निकाला। आखिरी राउंड का एलान होने से पहले ही समर्थकों ने जीत का जश्न मनाना शुरू कर दिया था।

अकाली दल के हलका बरनाला के इंचार्ज गुरप्रीत सिंह ने कहा कि यह अहंकार की हार है। लोगों ने सरकार को बता दिया कि लोग किसी के भी गुलाम नहीं होते। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने यह समझ लिया था कि संगरूर उनकी निजी जायदाद है लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।

एसडी कॉलेज में बने काउंटिंग सेंटर से शुरू होकर उन्होंने शहर के कच्चा कालेज रोड और बस स्टैंड रोड पर जश्न का मार्च निकाला। इस दौरान उन्होंने आम आदमी पार्टी के चुनाव चिन्ह झाड़ू को ट्रैक्टर के पीछे बांधकर घसीटा। समर्थकों ने कहा कि उन्होंने 3 महीने पहले आप पर भरोसा किया था लेकिन न तो वह लॉ एंड ऑर्डर दे सके न ही उन्होंने लोगों का भरोसा जीता। 22 एकड़ में बने सिमरनजीत सिंह मान के दफ्तर में लोगों ने जश्न मनाया।

मीत हेयर व लाभ सिंह के गढ़ छूटे, महलकलां में बमुश्किल बची नाक

बरनाला जिले में 3 विधानसभा हलकों बरनाला, भदौड़ व महलकलां में 3 माह पहले हुए विस चुनाव में 1,05,627 वोटों से बढ़त हासिल करने वाली आम आदमी पार्टी स‌ंगरूर लोकसभा उपचुनाव में पूरी तरह से बैकफुट पर नजर आई। 3 माह में ही मतदाताओं का उससे मोह भंग हो गया। बरनाला के विधायक मीत हेयर व भदौड़ के विधायक लाभ सिंह उगोके लाेस उपचुनाव में पार्टी उम्मीदवार गुरमेल सिंह काे बढ़त नहीं दिलवा सके।

बीते विस चुनाव में पार्टी काे बरनाला हलके में 37,622, जबकि भदाैड़ हलके में 37,558 वोटाें की बढ़त मिली थी लेकिन इस लाेस उपचुनाव में बरनाला में पार्टी काे शिराेमणि अकाली दल-अ के सिमरनजीत सिंह मान से 2095, जबकि भदौड़ में 7175 वाेट कम मिले। भदाैड़ में ताे लाभ सिंह उगाेके ने कांग्रेस के तत्कालीन सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को हराया था।

महलकलां हलके में पार्टी काे मात्र 203 वोटाें की बढ़त मिली, जबकि विस चुनाव में 30,447 वोटाें से जीती थी। इस हलके के विधायक कुलवंत पंडोरी बमुश्किल अपनी नाक बचाने में सफल रहे। कुल मिलाकर पार्टी बरनाला जिले में तीन में से दाे विधानसभा हलके सिमरनजीत मान से हार गई। कगुरमीत सिंह मीत हेयर काे मंत्री पद दिया गया था, लेकिन वह इस उपचुनाव में अपने हलके में पार्टी काे नहीं जिता पाए।

वह जिले के सबसे बड़े नेता हैं, प्रदेश के यूथ विंग के प्रधान भी हैं। कमजाेर प्रदर्शन से उनका पार्टी में कद घटना तय है। 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से आम आदमी पार्टी जिले में नहीं हारी थी। लेकिन 2022 के विस चुनाव के बाद आप की सरकार बनने के बाद पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या ने पूरी तस्वीर ही बदल दी।

खबरें और भी हैं...