जागरूकता गतिविधियां आयोजित:काला मोतिया के लक्षण नजर आने पर तुरंत करवाएं उपचार : मनबीर

अबोहर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएचसी बहाववाला में लोगों को जागरूक करते स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
सीएचसी बहाववाला में लोगों को जागरूक करते स्वास्थ्य कर्मी।

सीनियर मेडिकल अफसर सीएचसी बहाववाला डॉ. त्रिलोचन सिंह की अगुवाई में लोगों में बढ़ रही काला मोतिया की बीमारी से बचाव संबंधी जागरूक करने के लिए विश्व ग्लूकोमा सप्ताह के तहत जागरूकता गतिविधियां आयोजित की गई।

बीईई मनबीर सिंह ने बताया कि असाधारण सिर दर्द, आंखों में दर्द, नजर वाले चश्मे के नंबर का बार-बार बदलना, रोशनी की ओर देखते हुए प्रकाश के इर्द-गिर्द रंगदार चक्कर नजर आने, अचानक नजर कमजोर होना ग्लूकोमा के लक्षण हैं। शुगर और हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित मरीज, एलर्जी, सांस की बीमारी या चमड़ी रोग से पीड़ित मरीज जो स्टेरॉयड का प्रयोग करते हैं, काला मोतिया या ग्लूकोमा के जल्दी शिकार हो सकते हैं।

उन्होंने बताया कि भारत में काला मोतिया स्थायी तौर पर अंधेपन के मुख्य कारणों में से एक है। ग्लूकोमा के कोई भी लक्षण नजर आने पर अपनी आंखों का दबाव या प्रेशर तुरंत चेक करवाना चाहिए। इस अवसर पर स्टाफ व अन्य लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...