मोगा की लड़की, अबोहर में हत्या / इंटरकास्ट मैरिज कर 6 साल पहले जिसके गले में मंगलसूत्र बांधा, उसे गला दबाकर मार डाला

गले में साफा डालकर कथित तौर पर पति हत्या कर मौके से फरार हो गया। गले में साफा डालकर कथित तौर पर पति हत्या कर मौके से फरार हो गया।
X
गले में साफा डालकर कथित तौर पर पति हत्या कर मौके से फरार हो गया।गले में साफा डालकर कथित तौर पर पति हत्या कर मौके से फरार हो गया।

  • शादी के बाद लड़के के बिगड़े चाल-चलन का विरोध करती थी
  • लड़की ने मां को फोन कर बुलाया, पहुंचे तो मिली बेटी की लाश

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:54 AM IST

अबोहर. गांव गद्दाडोब के निवासी ने पारिवारिक झगड़े के चलते शुक्रवार रात्रि अपनी पत्नी के गले में साफा डालकर कथित तौर पर हत्या कर मौके से फरार हो गया। थाना सदर की पुलिस ने मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाते हुए मृतका के परिजनों के बयानों पर आरोपी पति के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मोगा के बुकन वाला रोड पर गुरुसर बस्ती के वार्ड नंबर 27 निवासी मृतका हरसिमरजीत कौर (25) पुत्री बचित्र सिंह की मां गुरमीत कौर ने बताया कि उनकी बेटी की शादी करीब 6 वर्ष पूर्व गद्दाडोब निवासी जसवंत सिंह पुत्र सुखमंदर सिंह से हुई थी। शादी के बाद उनके घर एक बेटे ने जन्म लिया। लेकिन पिछले कुछ समय से उनके घर परिवार में झगड़ा रहता था, जिसको लेकर कई बार पंचायतें भी हुई थीं। गुरमीत कौर ने आरोप लगाते हुए कहा कि शुक्रवार करीब 12 बजे उनकी बेटी ने उनको फोन कर अपने घर बुलाया। जिस पर वह तथा उसका पति शाम के समय बेटी के घर पहुंचे तो देखा कि जसवंत ने उनकी बेटी के गले में परना डाला हुआ था। जब तक उन्होंने अपनी बेटी को छुड़वाया तो वह मर चुकी थी और उसका पति जसवंत मौके से फरार हो गया। उन्होंने इस बात की सूचना पुलिस को दी। 

6 साल के रिश्ते की कहानी
गुरुसर बस्ती की गुरमीत कौर के अनुसार, उसने अपने बहन-बहनोई मुक्तसर निवासियाें से हरसिमरत जीत कौर उर्फ दीपू को गोद लिया था। उसे पाल-पोसकर बड़ा किया। 2012 को उसके पति बचित्र सिंह की अचानक मौत हो गई थी। दीपू बड़ी हुई ताे जीजा मुक्ससर निवासी पप्पी ने हरसिमरजीत कौर की शादी जट्ट परिवार के युवक जसवंत सिंह से कर दी। शादी के बाद बेटी ने एक बेटी को जन्म दिया। दामाद बेटी के चरित्र पर शक करता था। 3 साल पहले दामाद ने बेटी पर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से तीन गोलियां चलाई थीं, तब वह बच गई थी। दामाद बेटी से मारपीट के बाद उसकी वीडियो बनाता था, जिसमें वह उससे जबरदस्ती कहलवाता था कि उसके किसी के साथ अवैध संबंध हैं। शुक्रवार की दोपहर 12:00 बजे दामाद जसवंत ने फोन पर बताया कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी। यह सुनते ही वह, देवर सुखविंदर सिंह व बेटे भूषण के साथ बेटी के ससुराल के लिए रवाना हो गए। जैसे ही वे वहां पहुंचे, बेटी की सांसें चल रही थीं। बेटी ने इतना ही बताया कि पति ने बुरी तरह से मारपीट की। इसके बाद उसने ने दम ताेड़ दिया। दामाद मौका पाकर घर से चला गया।

पुलिस बोली- हत्या से पहले पीटा भी

थाना प्रभारी रणजीत सिंह ने बताया कि जब वह मौके पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि मृतका के साथ उसकी हत्या से पहले मारपीट की गई थी क्योंकि उसके शरीर पर चोटों के निशान थे और मौके से उन्हें प्रयोग किया गया साफा भी बरामद हो गया है। उन्होंने बताया कि अभी तक मृतका की मां के बयानों के आधार पर कार्रवाई की गई है। बाकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद घटना का पूरा पता चल पाएगा। सूचना मिलते ही डीएसपी ग्रामीण संदीप सिंह मौके पर पहुंचे और घटना की जांच करते हुए शव को पोस्टमार्टम हेतु सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया। बल्लुआना ग्रामीण डीएसपी संदीप सिंह ने कहा कि पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी गई। मृतका के परिजनों के बयानों पर आरोपी पति के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि आरोपी पति मौके से फरार हो गया है, जिसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

चाची बोली- चरित्रहीन था जसवंत

मृतका की चाची सुरजीत कौर व ताई कुलविंदर कौर ने बताया कि हरसिमरनजीत का पति जसवंत सिंह का चाल-चलन ठीक नहीं था। इसलिए उनकी लड़की उसे रोकती थी तो वह उसके साथ मारपीट करता था। पिछले काफी समय से उनका इसी बात को लेकर झगड़ा चलता था। उन्होंने कई बार उसे समझाने का प्रयास भी किया था। बताया जा रहा है कि जब जसवंत सिंह ने हरसिमरन की हत्या की तो उसके पारिवारिक सदस्य गांव में ही किसी के घर गए थे और उसका बेटे बाहर खेल रहा था। हत्या की सूचना मिलने पर थाना सदर के प्रभारी रणजीत सिंह व एएसआई दयाल चंद मौके पर पहुंचे और मामला दर्ज कर लिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना