आंगनबाड़ी वर्कर आत्महत्या प्रकरण:यूथ अकाली दल प्रधान और 6 फाइनांसरों की गिरफ्तारी के लिए 24 जगह छापेमारी

अबोहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बलजिंद्र फाइनांसर की पत्नी पत्र को दिखाती हुई। - Dainik Bhaskar
बलजिंद्र फाइनांसर की पत्नी पत्र को दिखाती हुई।
  • 20 नहीं 24 लोगों के खिलाफ हुआ केस दर्ज
  • 24 आरोपियों में से एक को भी गिरफ्तार नहीं कर पाई पुलिस, कुछ वर्करों को उठाने की चर्चा लेकिन नहीं हुई पुष्टि
  • दविंद्रपाल कौर बोलीं- हमारा परिवार कभी गुरप्रीत से मिला ही नहीं

आंगनवाड़ी वर्कर द्वारा आत्महत्या करने के मामले में शनिवार को पुलिस सभी कार्रवाईयां पूर्ण करने के बाद मृतका की देह परिजनों को सौंप दी। वहीं, मामले में नामजद यूथ अकाली दल के प्रधान सहित सभी लोगों को गिरफ्तार करने के लिए एक दर्जन से ज्यादा स्थानों पर छापेमारी की है। बता दें कि सुसाइड नोट के आधार पर सिटी वन पुलिस पहले 20 लोगों को नामजद कर रही थी लेकिन अब 24 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

इन 24 लोगों में से 6 फाइनांसर हैं जो कि अपनी अनधिकृत फाइनांस कंपनियों को अबोहर से चलाते आ रहे हैं। मामले में अबोहर के डीएसपी राहुल भारद्वाज अगली सारी कार्रवाई करेंगे। सिटी वन के एसएचओ बलजीत सिंह के मुताबिक शुक्रवार देर शाम से शनिवार देर शाम तक टीमों ने कई स्थानों पर छापेमारी करके नामजद लोगों को पकड़ने का प्रयास किया।

लेकिन कोई भी उनकी पकड़ में नहीं आ पाया। किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी न होने के सवाल पर उन्होंने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा कि इसका जवाब डीएसपी राहुल भारद्वाज देंगे लेकिन उनके द्वारा बनाई गई टीमें कई लोगों के घरों पर गईं थी परंतु उनके हाथ कुछ नहीं आया। शनिवार को परिवार वाले शव को ले गए और गांव बुर्जमुहार में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

फाइनांसर की पत्नी ने कहा- कोई मेरे पति को झूठा फंसा रहा है...
नई आबादी गली नं-19 निवासी बलजिंद्र फाइनांसर की पत्नी दविंद्रपाल कौर ने पुलिस को पत्र लिखा कि कोई उसके पति को झूठा फंसाने की कोशिश कर रहा है। क्योंकि गुरप्रीत के परिवार से उनका कोई रिश्ता नहीं है और न ही कभी उन्होंने महिला से कोई लेन-देन किया था। पुलिस चाहे तो उसके पति की कॉल डिटेल भी निकलवा सकती है। अगर कॉल डिटेल से कोई सबूत मिले तो वो हर सजा पाने के हकदार होंगे। उनके पति फाइनांस का कारोबार जरूर करते हैं लेकिन गुरप्रीत कौर या उसके परिवार के किसी भी सदस्य को एक रुपया भी ब्याज पर नहीं दिया गया।

अकाली नेता सहित सभी लोग घरों से फरार...मामला दर्ज होने के बाद अकाली नेता पटेल घुल्ला सहित सभी लोग घरों से फरार हैं। उन्होंने अपनी टीम सहित सभी के घर पर छापा मारा। अकाली नेता पटेल घुल्ला के घर पर पहुंचे तो उन्हें कोई नहीं मिला। घुल्ला ने पुलिस को अपना पक्ष देने की जगह प्रेस नोट जारी कर दिया जिसे कानूनी रूप से उनका पक्ष नहीं माना जा सकता। उधर, सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने कुछ कर्मचारियों को भी पूछताछ के लिए उठाया है।

ये है मामला-
बुर्जमुहार निवासी आंगनबाड़ी वर्कर गुरप्रीत कौर सिद्धू (40) ने शुक्रवार को अबोहर स्थित अपने मायके में स्प्रे पीकर आत्महत्या कर ली थी। सुसाइड नोट में पुलिस को 24 लोगों के नाम मिले। महिला का आराेप था कि उसने पैसे उधर लिए और लौटा भी दिए लेकिन उसे फिर भी परेशान किया जा रहा है। पुलिस ने धारा 306 के तहत केस तो दर्ज कर लिया लेकिन 36 घंटे बाद भी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई।

खबरें और भी हैं...