सैंपलिंग तेज की:अबोहर में सरकारी अध्यापिका सहित दो महिलाओं का किया अंतिम संस्कार

अबोहर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अबोहर में बुधवार देर रात एक सरकारी अध्यापिका और वीरवार को एक महिला की कोरोना से मौत हो गई जबकि दो अन्य संदिग्ध लोगों की भी मौत हुई है। जिनका स्वास्थ्य विभाग की टीम ने समाजसेवी संस्था नरसेवा नारायण सेवा समिति के सहयोग से अंतिम संस्कार किया। एसएमओ डाॅ. गगनदीप सिंह ने बताया कि न्यू सूरज नगरी निवासी सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल की अध्यापिका सुषमा रानी (51) की बीते दिनों तबीयत खराब होने पर परिजनों ने उनका चेकअप करवाया तो वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई। उनकी बुधवार शाम गिद्दड़बाहा ले जाते समय मौत हो गई।

देर रात स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उनका अंतिम संस्कार करवाया। वहीं, वीरवार को अजीमगढ़ निवासी 48 वर्षीय सुषमा रानी को सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उसकी तबीयत बिगड़ने पर उसे जलालाबाद रैफर कर दिया गया। जहां ले जाते समय उसकी मौत हो गई। दोनों मृतकों के पूरी सतर्कता के साथ अंतिम संस्कार करवाए गए हैं।

दो संदिग्ध लोगों का भी करवाया अंतिम संस्कार

समाजसेवी राजू चराया ने बताया कि जैन नगरी गली नंबर 1 निवासी 48 वर्षीय पवन पांडे को तबीयत खराब होने पर बुधवार रात सरकारी अस्पताल में लाया गया, जहां उसे जलालाबाद रेफर कर दिया गया। वहां ले जाते समय उसकी मौत हो गई। वहीं, पंजपीर टिब्बा निवासी राजेश कुमार की 17 अप्रैल को जयपुर में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। फिर 25 अप्रैल को निगेटिव हो गए थे लेकिन उसकी भी संदिग्ध हालातों में मौत हो गई।

अबोहर में 300 से ज्यादा लोगों की सैंपलिंग

एसएमओ डाॅ. गगनदीप सिंह ने बताया कि लोग कोरोना वायरस को लेकर लापरवाही बरत रहे हैं, जिसके चलते हर रोज कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। वीरवार को अबोहर में 102 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। जबकि 300 से ज्यादा कोविड सैंपलिंग की गई है। उन्होंने क्षेत्रवासियों से अपील की है कि कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाकर रखें और बिना काम के घर से बाहर न निकले। अगर आप सुरक्षित होंगे तो परिवार भी सुरक्षित रहेगा।

खबरें और भी हैं...