हरियाली आग के हवाले / नाड़ की आग की चपेट में 50 पेड़ जले

50 trees burnt in the grip of pulse fire
X
50 trees burnt in the grip of pulse fire

  • 8 महीने पहले श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर लगाए गए थे पौधे
  • पंडोरी से मालेरकोटला जाने वाली सड़क पर लगे पेड़ों का मनरेगा मजदूर कर रहे थे रखरखाव

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

बरनाला. गेहूं की नाड़ को लगी आग में सड़क किनारे लगे करीब 8 महीने पुराने 50 पेड़ जलकर राख हो गए। यह पौधे प्रदेश सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550 में प्रकाश उत्सव पर चलाई गई मुहिम के तहत लगाए गए थे। सड़क किनारे सरकारी जमीन पर लगे पेड़ों का रखरखाव मनरेगा मजदूरों की तरफ से किया जा रहा था। यह पेड़ काफी अच्छी तरह से बनकर तैयार हो गए थे। यह मामला जिले के हल्का महलकलंा के अधीन पड़ते गांव पंडोरी का है। वन रेज अफसर हरभोल सिंह ने कहा कि पलविंदर सिंह पर ₹4060 जुर्माना किया गया है।

क्लब के सदस्य भी कर रहे थे देखभाल, रोष जताया 

गांव पंडोरी के समाजसेवी निर्मल सिंह पंडोरी ने बताया कि उनके गांव से मालेरकोटला को जाने वाली सड़क पर उनके गांव के बिल्कुल पास यह पेड़ सड़क के किनारे लगाए गए थे। 8 महीने पुराने होने के कारण यह पेड़ काफी बढ़ गए थे और गांव के क्लब के युवकों की तरफ से और मनरेगा की तरफ से इसकी संभाल की जा रही थी। अब गांव के लोगों व युवकों में रोष की लहर है। उन्होंने इस घटना की जानकारी वन विभाग को दी। जिसके बाद उस पर कार्रवाई हो सकी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना