बरनाला में किसानों की रैली:भाकियू सिद्धूपुर की रैली में जुटी भीड़; लखीमपुर के शहीदों को श्रदांजलि, वादे पूरे न करने पर पंजाब सरकार को भी चेतावनी

बरनाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दाना मंडी में किसान रैली में पहुंची महिलाएं। - Dainik Bhaskar
दाना मंडी में किसान रैली में पहुंची महिलाएं।

पंजाब के बरनाला में दाना मंडी में रविवार को भारतीय किसान यूनियन सिद्धूपुर ने विशाल किसान रैली की। इस रैली में संयुक्त किसान मोर्चे की किसान जत्थेबंदियों के कई बड़े किसान नेता उपस्थित हुए। पंजाब के अलावा हरियाणा, राजस्थान, यूपी और महाराष्ट्र से आए किसान नेताओं ने भी रैली को संबोधित किया।

पंजाबभर से हजारों की संख्या में किसान, महिलाएं और नौजवान रैली में शामिल हुए। रैली में लखीमपुर खीरी के शहीद किसानों व पत्रकार को श्रद्धांजलि दी गई। केंद्र सरकार को खेती कानून रद्द करने व लखीमपुर खीरी घटना के आरोपी के पिता को मंत्री मंत्री पद हटाने और पंजाब सरकार को चुनाव वादे पूरे करके किसानों के मसले हल करने की चेतावनी दी गई।

दाना मंडी में किसान रैली में पहुंचे बुजुर्ग और नौजवान।
दाना मंडी में किसान रैली में पहुंचे बुजुर्ग और नौजवान।

रैली को संबोधित करते हुए भाकियू सिद्धूपुर के सूबा प्रधान जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा कि रैली पंजाब सरकार को चेतावनी देने के लिए की गई है क्योंकि पंजाब सरकार किसानों के मामलों को अनदेखा कर रही है। केंद्र सरकार की तरफ से धान की प्रति एकड़ 25 क्विंटल खरीद पर जवाब दे दिया गया। इसमें केंद्र का साथ पंजाब सरकार भी दे रही है। मालवा पट्टी में बड़े स्तर पर नरमे की फसल बर्बाद हो गई, जिसके मुआवजे के लिए पंजाब सरकार चिंतित नहीं है।

डल्लेवाल ने कहा कि 26 नवंबर के बाद आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिवारों को मुआवजा नहीं दिया गया। कांग्रेस ने जो कर्जमाफी का वादा किया था, उसे पूरा नहीं किया गया। कांग्रेस ने चाहे मुख्यमंत्री बदल दिया हो परन्तु सरकार अभी भी कांग्रेस की है, इसलिए वादे पूरे किए जाने चाहिए। सरकार ने यदि अपने वादे पूरे न किए तो वह केंद्र के साथ-साथ पंजाब सरकार के घेराव के लिए चंडीगढ़ में घुसने को मजबूर होंगे।

खबरें और भी हैं...