पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • Barnala
  • Due To Governmental Neglect, The Grass Grown In The Park, Rusted On The Swings, The Plants Started Drying Up, Then The Social Workers Gathered For Maintenance, So That People Get A Happy Atmosphere.

सरकारी अनदेखी:सरकारी अनदेखी की वजह से पार्क में उगा घास, झूलों पर जंग लगा, पौधे सूखने लगे तो रखरखाव के लिए जुट गए समाजसेवी, ताकि लोगों को खुशनुुमा माहौल मिले

बरनाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के बीचों-बीच 8 एकड़ में फैले शहीद भगत सिंह पार्क को संवारने का काम शुरू, समाजसेवा से जुड़े लोगों ने एकत्रित किया फंड
  • कोरोना लॉकडाउन व कर्फ्यू में भी पौधे व परिसर की देखभाल के लिए रहे मुस्तैद रहे सेवादार
Advertisement
Advertisement

शहर के बीचों-बीच 8 एकड़ में फैला शहीद भगत सिंह पार्क का रख-रखाव बिना सरकारी सहायता के शहर के समाजसेवी लोग करने में जुटे हैं। कोरोना के कर्फ्यू में भी पौधों को बचाने के लिए समाजसेवी पर्यावरण प्रमियों ने हरसंभव प्रयास किया।

अब लोगों के सहयोग से पार्क को सजाया जा रहा है। ताकि खुशनुमा माहौल फिर से मिल सके। 22 मार्च को लगे कर्फ्यू के बाद से लोगों का पार्क में आना बिल्कुल बंद है।

पार्क का रख-रखाव करने वाले रोहित कुमार ने बताया कि उन्होंने अपने बल पर पर पार्क को संभालने के भरपूर प्रयास किए। जब गर्मी का सीजन शुरू हुआ तभी कर्फ्यू लगा। उस समय पौधों को सबसे अधिक पानी की जरूरत थी।

इसलिए वह सुबह 4 से 5 बजे तक के बीच आकर इनकी देखभाल करता रहा। शहरनिवासी रोहित ओशो, हैप्पी मित्तल, रोहित कुमार, मुनीश कुमार, विकास बंसल, बाल कृष्ण, दिनेश कुमार ने बताया कि पार्क के रेनोवेशन का काम जीवन बंसल भठ्ठे वाले के सहयोग से किया जा रहा है।

साथ ही लोगों के सहयोग से पार्क में लाखों रुपए खर्च हो रहे है। सभी झूलों को पेंट करवाया गया जा रहा है। पार्क में दो महीने में घास-फूस उग गया था। जिसे साफ करवाया गया।

उन्होंने बताया कि नगर कौंसिल की तरफ से यहां पर सिर्फ सफाई कर्मी भेजे जाते हैं। इसके बिना उन्हें कोई सहायता नहीं दी जा रही। पार्क में रखे हुए माली को भी हर माह 10 हजार रुपए लोगों के दिए सहयोग से दिए जा जा रहे हैं। 

पार्क की जगह जल्द नगर कौंसिल को होगी शिफ्ट : ढिल्लों
प्रदेश कांग्रेस के वाइस प्रधान केवल सिंह ढिल्लों ने कहा कि पहले भी कांग्रेस सरकार के समय नगर कौंसिल के द्वारा पार्क की चारदीवारी व वॉकिंग रैंप बनाया गया था।

उसके बाद अकाली दल की सरकार के समय इसका विकास रूक गया। अब फिर से प्रदेश के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह हस्तक्षेप से इसे नगर कौंसिल को शिफ्ट करे शहरवासियों को तोहफा दिया जाएगा। उसके बाद प्रदेश सरकार इस पर एक करोड़ रुपए खर्च करेगी।

2007 में नगर कौंसिल ने बनाया पार्क, 2010 में जमीन का मालिकाना हक जिला परिषद को सौंपा गया, तब से बदहाल

शहर के 8 एकड़ में बने एकमात्र बड़े पार्क की जमीन का मालिकाना हक जिला परिषद के पास है। इसलिए यहां पर नगर कौंसिल किसी भी तरह से खर्च नही कर सकती।

पार्क का सारा रख-रखाव समाजसेवी संगठनों की तरफ से किया जाता है। साल 2007 से पहले की कांग्रेस सरकार के समय इस पार्क की चारदीवारी व वॉकिंग रैंप का निर्माण नगर कौंसिल की तरफ से की गई थी।

तब इस पर नगर कौंसिल का अधिकार था। लेकिन 2010 में इसके जमीन मालिकाना अधिकार परिषद के पास शिफ्ट होने के बाद से सरकारी तौर पर पार्क पर रुपए खर्च नहीं हुए। उसके बाद से कौ‌सिल के पूर्व वाइस प्रधान रघुवीर प्रकाश गर्ग, कांग्रीस पार्षद महेश लौटा, सीनियर सिटीजन सोसायटी सहित कई समाजसेवी संगठन पार्क को संवारने में लगे हुए हैं।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement