विरोध:गांव जयमल सिंह वाला, नाई वाला और छीनीवाल खुर्द में किसानों ने नहीं लगाने दिए स्मार्ट मीटर, कैरें में उतारा

बरनाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पावरकॉम की तरफ से वाटर वर्क्स में स्मार्ट मीटर लगाने का पहले ही दिन 5 गांवों में विरोध

पावरकाॅम की तरफ से स्मार्ट मीटर लगाने की शुरुआत के पहले ही दिन जिले में 5 गांवों में लोगों ने विरोध किया। ग्रामीणों ने कहा कि यह मीटर किसी भी हालत में लगने नहीं दिए जाएंगे क्योंकि यह गरीब लोगों को गुलाम बनाने जैसा है। वहीं पावरकॉम का तर्क है कि यह मीटर सिर्फ रीडिंग के झंझट से छुटकारा पाने के लिए हैं। गांव जयमल सिंह वाला, नाई वाला और छीनीवाल खुर्द के लोगों ने मीटर लगाने का विरोध किया। कैरें, बख्तगढ़ में भी विरोध हुआ। कैरें में किसानों ने मीटर ही उतार दिया।

नाई वाला के सरपंच जितेंद्र सिंह ने कहा कि अगर यह मीटर अब लगाने की इजाजत दी तो धीरे-धीरे मीटरों को घर में लगाया जाएगा। इसके बाद बिजली इस्तेमाल करने से पहले ही लोगों को बिल भरना पड़ेगा। वहीं गांव जयमल सिंह वाला के किसान नेता सुख जीवन सिंह ने कहा कि जब उन्हें पता चला कि उनके गांव के वाटर वर्क्स में मीटर लग रहा है तो उन्होंने विरोध किया। उन्होंने कहा कि पावरकॉम की तरफ से लोगों को भ्रमित करने के लिए यह मीटर पहले वाटर वर्क्स पर लगाए जा रहे हैं। जब यह प्रोसेस पूरा हो गया तो इनको घरों में लगाया जाएगा। इसके अलावा गांव छीनीवाल के लोगों ने भी मीटर लगने का विरोध किया। वहीं पावरकॉम तपा के एसडीओ अमनदीप व बरनाला के एसडीओ विकास सिंगला ने कहा कि फिलहाल यह मीटर सिर्फ वाटर वर्क्स पर लगाए जा रहे हैं। यह मीटर सरकारी विभागों में लगाए जाएंगे। अभी घरों में लगाने का कोई प्लान नहीं है।

खबरें और भी हैं...