पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभियान शुरू:गांव भूरे की पंचायत ने मता पास कर कहा,अवैध शराब और बीड़ी-सिगरेट न बेचें

बरनाला7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सामाजिक बुराइयों के खिलाफ गांव भूरे की पंचायत ने शुरू किया अभियान

जिले के गांव भूरे की पंचायत गांव निवासियों व किसान नेताओं की तरफ से सर्वसम्मति से समाज को बुराइयों के खिलाफ अभियान शुरू किया गया है। सभी को उम्मीद है कि इस अभियान में अगर प्रदेश के सभी गांव शामिल हो जाएं तो बहुत सी सामाजिक बुराइयों को खत्म किया जा सकता है।

जानकारी देते हुए किसान नेता गुरजीत सिंह ने बताया कि गांव निवासियों की तरफ से सर्वसम्मति से फैसला किया गया है कि गांव में सिगरेट बेचने, सार्वजनिक स्थानों पर सिगरेट का इस्तेमाल करने, गांव में रात को 9 बजे के बाद बिना वजह घूमने और बाहर से लड़कों को बुलाकर गांव में नशा करने, गांव में अवैध शराब बेचने और खरीदने, गांव की गलियों में ट्रैक्टर पर ऊंची आवाज में गाने बजाने, गांव की गलियों के मोड़ पर बिना वजह खड़े होकर हो हल्ला करने पर गांव निवासियों की तरफ से पूर्ण तौर पर पाबंदी लगाई गई है।

गांव के मौजूदा सरपंच, पंचायत मेंबरों, किसान नेताओं व अन्य सामाजिक संगठनों की तरफ से मिलकर गांव की पंचायत के में यह मता पास किया गया है। उन्होंने कहा कि जो भी इन नियमों को तोड़ेगा उसके खिलाफ पंचायत द्वारा ही कार्रवाई की जाएगी। सरपंच गुरजीत सिंह ने बताया कि युवा पीढ़ी में रात के समय बिना वजह सड़कों पर घूमने या टोलियां बनाकर बैठने से नई पीढ़ी पर बुरा असर पड़ता है। इसके साथ ही जो युवक गांव की गलियों में गीतों की ऊंची आवाज करके अपने वाहनों को चलाते हैं।

ऐसे में कई बार गांव में लड़ाई का खतरा पैदा हो जाता है। सभी को सामाजिक जिम्मेदारी समझते हुए इन बातों को समर्थन करना चाहिए। किसान नेता सिकंदर सिंह ने कहा कि गावों के अंदर ऐसी बहुत सी चीजें बदलने की जरूरत है। इस काम की शुरुआत उनके गांव से हो गई है। इसे आगे भी चलाया जाएगा। जिससे सामाजिक बुराइयों को खत्म किया जा सके। उन्होंने सभी लोगों से अपील की कि इस काम को पूरा करवाने में लोग साथ दें।

खबरें और भी हैं...