धरना-प्रदर्शन:जमीन के संघर्ष में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दर्ज मामले रद्द करने की मांग

भवानीगढ़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
थाना भवानीगढ़ के समक्ष धरना देते जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के सदस्य। - Dainik Bhaskar
थाना भवानीगढ़ के समक्ष धरना देते जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के सदस्य।
  • जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी ने थाना भवानीगढ़ के समक्ष दिया धरना

जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी की ओर से थाना भवानीगढ़ के समक्ष धरना दे नारेबाजी की गई। आरोप है कि 7 साल पहले गांव बालद कलां में जमीन के संघर्ष दौरान प्रदर्शनकारियों पर दर्ज किए गए झूठे पर्चे के दोबारा समन भेजकर कोर्ट में पेश होने के लिए कहा जा रहा है जबकि प्रशासन द्वारा मामला रद्द करने का भरोसा दिया जा चुका था।

जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के जोनल वित्त सचिव बिक्कर सिंह हथोआ, जोनल नेता चरण सिंह व परमजीत कौर लौंगोवाल ने कहा कि साल 2014 में तीसरे हिस्से की पंचायती जमीन लेने के लिए गांव बालद कलां में किए गए संघर्ष दौरान प्रदर्शनकारियों पर झूठे पर्चे दर्ज किए गए थे। प्रशासन ने भी मान लिया था कि पर्चे झूठे दर्ज किए गए है व इन्हें रद्द किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि चन्नी सरकार ने किसानों के संघर्ष दौरान हुए झूठे पर्चे रद्द करने का फैसला किया है। दूसरी तरफ एससी भाईचारे के साथ पक्षपात करते हुए गांव बालद कलां में बुजुर्ग महिलाओं समेत लोगों को समन भेज इस झूठे केस में कोर्ट में पेश होने के लिए कहा जा रहा है। उन्होंने एसएसपी से मांग की कि घटनाक्रम की दोबारा जांच करके मुकद्दमा रद्द किया जाए।

इस मौके पर गुरचरण सिंह, अमरजीत सिंह, हरजिंदर सिंह, सुखविंदर सिंह, प्रगट सिंह, लाभ सिंह आदि उपस्थित थे। इस मौके पर पहुंचे थाना भवानीगढ़ के एसएचओ गुरप्रीत सिंह ने प्रदर्शनकारियों को विश्वास दिलाया कि मुकद्दमा खारिज हो चुका है। कुछ तकनीकी कारणों से समन आ रहे हैं, जिसे जल्द खत्म किया जाएगा और किसी किस्म की कार्रवाई अमल में नहीं लाई जाएगी। इसके बाद धरना समाप्त कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...