सावधानी बरतें:कोरोना से एक और मरीज ने तोड़ा दम, 265 नए पाॅजिटिव मिले, इनमें अबोहर से 102 आए

फाजिल्का6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 1654 एक्टिव केस, 127 मरीजों की हो चुकी मौत

जिले में वीरवार को कोविड के 265 नए मामले सामने आए हैं। इनमें 102 पॉजिटिव मरीज अकेले अबोहर से आए हैं। वहीं, 24 घंटों में 166 लोग स्वस्थ हुए हैं। इसके अलावा अबोहर की एक महिला की कोरोना से मौत हुई है। जिले में अब तक पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 7385 हो गई है जबकि अब तक 5604 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि इस समय एक्टिव केस 1654 हैं। जिले में अब तक कोरोना से 127 मौतें हुई हैं।

जिले में संक्रमण तेजी से बढ़ने पर सेहत विभाग ने सैंपलिंग तेज कर दी है मगर लोगों में लक्षण आते ही सैंपलिंग करवाने के लिए घबराहट देखी जा रही है।

इसके लिए लोगों को हर स्तर पर जागरूक किया है। डबवालाकलां के सीनियर मेडिकल अफसर डॉ. पंकज ने बताया कि गांवों में लोग बुखार, खांसी और जुकाम होने पर टेस्ट नहीं करवाते बल्कि घर में ही खुद इलाज करते है जोकि खतरनाक भी हो सकता है। सेहत विभाग द्वारा टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर फतेह किट दी जाती है, जिसमें दवाई और काढ़ा भांप लेने का स्टीमर आदि होता है।

शुरुआती समय में सेहत विभाग के डॉक्टरों की निगरानी में दवाई दी जाती है। अगर मरीज घर मंे ही अपना इलाज करता है तो कभी तबियत ज्यादा खराब होने पर परिवार को दिक्कत का सामना करना पड़ता है और टेस्ट न करवाने पर यह भी पता नहीं चलता कि मरीज पॉजिटिव है या निगेटिव। इसलिए लक्षण आने पर टेस्ट जरूर करवाना चाहिए।

कोरोना की चेन तोड़ने के कोशिश में करें सहयोग

ब्लॉक मास मीडिया इंचार्ज दिवेश कुमार ने बताया की गांव स्तर पर विभाग में आशा वर्कर और हेल्थ वर्कर काम कर रही है। रोज गांवों में मोबाइल टीमें लोगों के सैंपल ले रही है। सही समय पर सैंपलिंग से पूरे परिवार को बचाया जा सकता है। अगर कोई मरीज के संपर्क में रहा हो और सैंपल दिया हो तो जब तक रिपोर्ट न आए तो खुद को अलग रखें और बाहर के काम न करंे क्योंकि जब तक रिपोर्ट आएगी और वह पॉजिटिव होगी तो संक्रमण काफी लोगों को फैल जाएगा जिसके लिए कोरोना की चेन तोड़ने के कोशिश होनी चाहिए जिसके लिए जनता का काफी सहयोग की जरूरत है ।

खबरें और भी हैं...