पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खुशी और आक्रोश की लोहड़ी:जिले में जश्न का माहौल, कृषि कानूनों की जलाईं प्रतियां

फाजिल्का13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अबोहर में मोदी सरकार का पुतला फूंकते किसान, मजदूर। - Dainik Bhaskar
अबोहर में मोदी सरकार का पुतला फूंकते किसान, मजदूर।
  • कहीं ढोल व डीजे की थाप पर नाचे युवा, तो कहीं किसानों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जताया आक्रोश
  • दिल्ली में 26 को निकालेंगे ट्रैक्टर मार्च, केंद्र के खिलाफ की नारेबाजी

फाजिल्का में बुधवार को लोहड़ी के त्योहार हर्षोल्लास से मनाया गया। इस मौके पर लोगों ने अपने घरों में पारंपरिक रीति रिवाजों के साथ लोहड़ी मनाई। कही पर सांझी लोहड़ी का आयोजन हुआ। पवित्र अग्नि प्रज्जवलित कर लोगों ने उसकी परिक्रमा कर मूंगफली, रेवड़ी और मक्के के खीलों के साथ अर्घ्य अर्पित किया।

लोहड़ी की अग्नि प्रज्जवलित करने से पहले लोगों ने अपने परिवार की सुख-समृद्धि व शांति के लिए पूजा अर्चना की। वह नाचते गाते हुए खुशियां मनाने के साथ ही अग्नि में रेवड़ी, तिल, मूंगफली, गुड़ और गच्चक अग्नि को अर्पित किए गए। देर रात तक लोग नाचते गाते हुए दिखाई दिए। महिलाओं व युवतियों ने अग्नि के चारों ओर नाचते गाते जमकर लुत्फ उठाया। जिनके घरों में नई दुल्हन आई और पहला बच्चा हुआ, उनके घरों में लोहड़ी का विशेष आयोजन हुआ। सगे संबंधियों और मित्रों ने गले मिलकर बधाई दी। ज्योतिष के अनुसार यह वह समय होता है जब सूर्य मकर राशि से गुजर कर उतर की ओर रूख करता है और इस समय सूर्य उत्तरायण बनाता है।

बार एसोसिएशन जलालाबाद द्वारा तहसील कांप्लेक्स में लोहड़ी का त्यौहार मनाया गया। इस अवसर पर सिविल जज जूनियर डिवीजन राजीव गर्ग, एसडीएम सूबा सिंह ने विशेष तौर पर बार के अध्यक्ष रोहित दहूजा व सचिव विशाल सेतिया के साथ मिलकर लोहड़ी को अग्नि भेंट की। इस अवसर पर बार एसोसिएशन ने समूचे वकील भाईचारे को लोहड़ी की बधाई दी और बिछड़े साथी को याद किया और प्रसाद भी बांटा।

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि बिलों के खिलाफ जहां किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं तो वहीं आज लोहड़ी के पर्व पर विभिन्न गांवों में किसानों द्वारा कृषि कानून के बिल की कापियां जला कर काली लोहड़ी मनाई। इसी तरह गांव चक्क बजीदा, फत्तुवाला, सबाजके में मा. मदन काठगढ़ के नेतृत्व में किसान इकट्ठे हुए और उन्होंने केन्द्र सरकार के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए कृषि कानून वापस लेने की मांग की।

इस दौरान किसान नेता ध्यान सिंह, हरीश सिंह, सुनील सिंह, अवतार सिंह, सुरजीत सिंह, सोमा सरपंच, कश्मीर सिंह सरपंच, रंगीला सिंह, रशपाल सिंह, स्वर्ण सिंह, भगवान सिंह,संतोख सिंह आस्ट्रेलिया मौजूद थे। इस दौरान मदन काठगढ़ व अन्य ने बताया कि पिछले 50 दिनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानून के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं लेकिन दूसरी ओर केन्द्र सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने की बजाय किसानों के संघर्ष को कमजोर करने के लिए हर तरह का कूटनीतिक प्रयास कर रही है।

उन्होंने बताया कि किसान किसी भी कीमत पर पीछे हटने वाले नहीं है। उन्होंने बताया कि किसानों द्वारा काली लोहड़ी मनाने का फैसला किया गया है और अग्नि में कृषि कानून की कॉपियां जलाई जा रही है। ऐसा पहली बार हो रही है कि जो त्योहार पंजाब के लोग खुशी से मनाते थे आज उन्हें कृषि कानूनों के कारण गम में मनाने पड़ रह हैं। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी तक केंद्र सरकार कृषि कानून रद्द करे नहीं तो किसान दिल्ली के अंदर घुसकर 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च करेंगे।

अबोहर में किसानों, मजदूरों व दुकानदारों ने कृषि कानूनों की प्रतियां जलाईं
केंद्र सरकार द्वारा पास किए गए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान जत्थेबंदियों के आह्वान किसान, मजदूर व दुकानदारों द्वारा बाजार नं 12 के बाहर रोष प्रदर्शन करते हुए केंद्र सरकार का पुतला फूंका गया। किसानों व मजदूरों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाई।

प्रदर्शन कर रहे वक्ताओं ने कहा कि लोहड़ी के अवसर पर किसानों और समूह लोगों ने काले कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर रोष प्रकट किया गया और कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा किसानों के कानून को होल्ड करते हुए जो कमेटी नियुक्त की है, उस कमेटी में शामिल लोग पहले ही कृषि कानूनों का समर्थन कर चुके हैं। इस दौरान इंद्रजीत बजाज, सुखजीत सिंह, कौर सिंह, मदन लाल, गुरमीत सिंह, सतवंत सिंह, अशोक कुमार, निहाल चंद, शिवराज सिंह खालसा, तेजिंद्र सिंह उर्फ राजा आदि मौजूद थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser