पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सावधान:एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर धरमूवाला के फौजी के बैंक खाते से उड़ाए 2.29 लाख रुपए

फाजिल्का13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिसार, मोगा व छपरा में विभिन्न एटीएम का प्रयोग कर क्लोन कार्ड से निकाली नकदी

अगर आप एटीएम से रुपए निकालने जा रहे हैं तो सावधान हो जाइए। यदि एटीएम मशीन में आपके अलावा कोई आसपास हो तो अपना एटीएम कार्ड कभी न यूज करें। हो सकता है कि वो व्यक्ति आपके बैंक बैलेंस को पूरी तरह से बिगाड़ दे। ऐसा ही एक मामला जलालाबाद में प्रकाश में आया जहां एक फौजी के एटीएम का क्लोन बनाकर एसबीआई के खाते से 2 लाख 29 हजार रुपए उड़ा दिए। पीड़ित युवक द्वारा उक्त मामले की सूचना थाना सिटी पुलिस को करने पर थाना सिटी पुलिस ने अज्ञात पर धारा 379 के तहत मामला दर्ज किया है। जांच अधिकारी हरकृष्ण लाल ने बताया कि उनको बलविंदर सिंह वासी मोहर सिंह वाला (धरमूवाला) ने बयान दर्ज करवाए थे कि वह फौजी भर्ती है तथा गुजरात के भुज शहर में ड्यूटी करता है। 27 जून 2020 को वह 45 दिन की छुट्टी लेकर अपने गांव आया हुआ था। उसने एसबीआई जलालाबाद में अपना बैंक खाता खोला हुआ है।

खाते में 2 लाख 29 हजार सेविंग+एफडी जमा थी। 10 जुलाई को वह जलालाबाद के एसबीआई के एटीएम में दो बार 10-10 हजार रुपए सहित 20 हजार रुपए निकलवाए और पैसे निकलवाकर सीधा अपने घर चला गया। उसने बताया कि एटीएम से पैसे निकलवाते समय वहां रश था। शायद वहीं से किसी ने उसके एटीएम का क्लोन बनवाया होगा। उल्लेखनीय है कि शहर में दूसरे के एटीएम कार्ड से रुपए निकालना कोई नई बात नहीं है, लेकिन पुलिस का ऐसे लोगों को पकड़ पाना सर दर्द बनता जा रहा है। इससे पहले भी दर्जनों लोग ऐसे गिरोह का शिकार बन चुके हैं। पुलिस की मानें तो लोग एटीएम का क्लोन बनाकर घटना को अंजाम देते हैं, जिसके लिए लोगों को खुद भी सजग रहना होगा। गिरोह एटीएम रूम की छत पर एक खुफिया कैमरा फिट कर देता है। इस कैमरे की मदद से उपभोक्ता के पिनकोड को कैप्चर कर लिया जाता है। एटीएम का कोड पता चलते ही गिरोह कार्ड का क्लोन तैयार करने में जुट जाता है।

कैसे तैयार होता है एटीएम का क्लोन
पहले एटीएम मशीन के कार्ड स्वैपिंग स्लॉट पर एक विशेष मैगनेटिक डिवाइस लगा दी जाती है। यह डिवाइस एटीएम कार्ड के बारकोड और चिप की सारी इंफॉर्मेशन को कॉपी कर लेती है। साथ ही डिवाइस में कार्ड का ब्लूप्रिंट तैयार हो जाता है। इसके अलावा एटीएम मशीन के कीपैड को सीपीयू और कार्ड रीडर से जोड़कर भी एटीएम की क्लोनिंग की जाती है। इसके बाद सॉफ्टवेयर की मदद से एटीएम का क्लोन तैयार कर लिया जाता है।

एसएमएस की अनदेखी महंगी पड़ी
बलविंदर सिंह के अनुसार 11 व 12 जुलाई को उसे उसके मोबाइल पर पैसे निकलने संबंधी मैसेज भी आया लेकिन उसने मैसेज इग्नोर कर दिया जो उसे महंगा पड़ा। उसने बताया कि जरूरत पड़ने पर जब वह 24 जुलाई को दोबारा एटीएम पर पैसे निकलवाने गया तो उसके खाते से पैसे नहीं निकले। जब वह इस संबंधी बात करने बैंक गया तो बैंक वालों ने बताया कि उसका खाता बैलेंस तो जीरो है।

क्योंकि 11 जुलाई से लेकर 23 जुलाई तक उसके खाते में पड़े 2 लाख 29 हजार रुपए हिसार, मोगा व छपरा के विभिन्न एटीएम में एटीएम कार्ड की कलोनिंग करके अज्ञात व्यक्ति ने पैसे निकलवा लिए थे। उसने बताया कि उसकी खाते की लिमिट प्रतिदिन 20 हजार रुपए है तथा उसके निकलवाने से पूर्व ही शातिर ठग उसके खाते से पैसे निकलवा लेता था। जब भी वह बैंक के एटीएम से पैसे निकलवाने जाता था तो उसके खाते से पैसे नहीं निकलते थे।

पैसा निकालते समय इन बातों का रखें खयाल
एटीएम रूम में अकेले ही प्रवेश करें, एटीएम से बाहर निकलने से पहले कैंसिल का बटन जरूर दबाएं, एटीएम की होम स्क्रीन आने के बाद ही एटीएम से बाहर निकलें, ट्रांजेक्शन स्लिप को लेकर ही बाहर निकलें, कार्ड खोने पर तुरंत बैंक को सूचना देकर उसे बंद कराएं, समय-समय पर एटीएम पिन बदलते रहें, किसी दूसरे को अपना कार्ड प्रयोग न करने दें, एटीएम ठीक से काम न करने पर बैंक को तुरंत सूचित करें, बैंकिंग ट्रांजेक्शन को एसएमएस एलर्ट के साथ जरूर जोड़ें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें