पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हिदायतें जारी:खराब मौसम में बाहर न जाएं, खेतों में काम करने से गुरेज करें, जल स्रोतों और रेलवे ट्रैक से दूर रहें

फाजिल्का21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तूफान और आसमानी बिजली से होने वाले नुकसानों से बचने के लिए हिदायतें जारी

डिप्टी कमिश्नर अरविंद पाल सिंह संधू ने बताया कि डिजास्टर मैनेजमेंट अथाॅरटी द्वारा भविष्य में संभावित तूफान और आसमानी बिजली के साथ लोगों, पशुओं, फसलों और अन्य को होने वाले नुकसानों से बचने के लिए हिदायतें जारी की गई हैं। उन्होंने कहा कि हिदायतें मुताबिक सभी को पहला तौर पर मौसम संबंधी सचेत रहना चाहिए, जिससे पहले से ही होने वाले नुकसान से बचाव किया जा सके।

यदि आप घर से बाहर जाने का प्रोग्राम बना रहे हो तो कम से कम पहले मौसम की जानकारी हासिल की जाए अगर मौसम सही नहीं तो बाहर जाने से गुरेज किया जाए। उन्होंने कहा कि खराब मौसम में खेतों में काम करने, पशुओं को चरवाने आदि से परहेज किया जाए। इसके अलावा मेटल (धातू) की बनी किसी भी वस्तु को छूने या उसके नजदीक जाने से भी गुरेज किया जाए।

उन्होंने कहा कि छप्पड़ों, तलाबों, झीलों और अन्य पानी वाली स्रोतों से दूर रहा जाए। इस के अलावा टैलीफोन, बिजली, रेलवे ट्रैक, बाढ़ वाली तारों से भी एक तरफ रहा जाए। उन्होंने कहा कि ग्रुप में न खड़ा हुआ जाए इससे खतरा अधिक होता है। उन्होंने कहा कि यदि किसी व्यक्ति पर बिजली गिर जाती है तो उसको तुरंत अस्पताल में ले कर जाया जाए, बिजली गिरने वाले व्यक्ति में कोई करंट नहीं होता इसलिए तुरंत उसकी सहायता की जाए।

इसके अलावा यदि पीडित को सांस लेने में दिक्कत आती है तो उसको मुंह से या उसकी छाती को दबाकर सांस दिया जाए। अधिक जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर 1078 पर काल करें।इसके अलावा व्यक्ति अपने मोबाइल में इंग्लिश विख दामिनी एप डाउनलोड कर सकते हैं, जिस में व्यक्ति अपनी लोकेशन आने करके अपने नजदीक वाली ऐसी गतिविधियों का पता चल सकता है।

बिजली कड़कने पर किसी भी इलेक्ट्रिक वस्तु को न चलाएं, सभी प्लग निकाल दें
डिप्टी कमिश्नर ने कहा घर में होने पर खतरे से बचने के लिए घर की बारियां, दरवाजे बंद रखें और कोई भी बिजली वाली वस्तु न छुई जाए। सभी बिजली वाली वस्तुएं जैसे कंप्यूटर, लैपटाप, ड्राइवर, वाशिंग मशीन आदि के पलग निकाल दिए जाएं, जिससे बिजली को सप्लाई न मिल सके। इसके अलावा बच्चे, बुजुर्गों और पशुअों को अंदर रखा जाए। फुहारा न छोड़ा जाए, पानी चलने वाली कोई गतिविधि न की जाए, जिससे बिजली पाइपें के द्वारा आ जाए और नुकसान कर दे।

खबरें और भी हैं...