• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Bathinda
  • Fazilka
  • Instruction To Banks Financial Assistance Should Be Made Available To The Weaker Sections, DC Held A Quarterly Review Meeting Of The Functioning Of Banks

विचार-विमर्श:बैंकों को हिदायत-कमजोर वर्गों को वित्तीय सहायता कराई जाए उपलब्ध, डीसी ने बैंकों के कामकाज की तिमाही समीक्षा बैठक की

फाजिल्काएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एमएसएमई को 390 करोड़ रुपए का वित्त उपलब्ध करवाया गया

डिप्टी कमिश्नर बबीता कलेर ने जिले की बैंकों के कामकाज की तिमाही समीक्षा बैठक की। उन्होंने बैंकों को हिदायत की कि समाज के कमजोर वर्गों को वित्त उपलब्ध करवाया जाए व उनको आर्थिक तौर पर आगे बढ़ने में मदद की जाए। डीसी ने बैंकों में अलग-अलग स्वयं रोजगारों के लिए लोन लेने के लिए प्रार्थियों द्वारा दिए गए आवेदनों को समयबद्ध निपटारा करने के आदेश देते कहा कि इसमें लापरवाही करने वाली बैंकों के खिलाफ भारतीय रिजर्व बैंक को लिख दिया जाएगा।

आरबीआई के एजीएम योगेश अग्रवाल ने जिले की बैंकों द्वारा वित्तीय साक्षरता सलाहकार नियुक्त न किए जाने और जिले में आरसेटी की स्थापना न होने का मुद्दा उठाया। जिस पर डीसी ने बैंकों को आरबीआई के दिशानिर्देशों अनुसार तुरंत वित्तीय साक्षरता सलाहकार नियुक्त करने की प्रक्रिया शुरू करने की हिदायत की। इसी तरह उन्होंने जिला लीड बैंक मैनेजर को निर्देश दिए कि जब तक बाकायदा आरसेटी की स्थापना नहीं होती, किसी आरजी इमारत में आरसेटी शुरू किया जाए। बैठक के दौरान विभिन्न सरकारी स्कीमों की प्रगति का जायजा लिया गया। इस मौके आरबीआई के एजीएम योगेश अग्रवाल ने बैंकों को सरकार की हिदायतों अनुसार निर्धारित लक्ष्य पूरे करने के लिए कहा। एलडीएम राजेश कुमार चौधरी ने बताया कि पहली दो तिमाही के दौरान जिले में कृषि और सहयोगी क्षेत्रों को 2420 करोड़ का वित्त उपलब्ध करवाया गया है जबकि एमएसएमई को 390 करोड़ रुपए का वित्त उपलब्ध करवाया गया है।

खबरें और भी हैं...