पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रेरणा:दिव्यांग होने के बावजूद अपने माता-पिता का सहारा बना मलकीत सिंह

फाजिल्का17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वरोजगार के इच्छुक लोगों को सस्ती दरों पर दिया जा रहा लोन : डीसी

नौजवान वर्ग को अलग-अलग क्षेत्रों में रोजगार के मौके प्रदान करने के लिए सरकार जहां ठोस कदम उठा रही है वहां नौजवानों के हुनर और स्वेच्छा के अनुसार उनको स्व-रोजगार के काबिल भी बना रही है। स्व-रोजगार का कारोबार करने के इच्छुकों को सस्ती दरों पर लोन भी मुहैया करवाए जा रहेे हैं। उक्त उद्गार डीसी अरविन्द पाल सिंह संधू ने व्यक्त किए।

इस संबंधी अधिक जानकारी देते बताया कि पंजाब अनुसूचित जातियों भू विकास एवं वित्त निगम के जिला मैनेजर तलविंद्र सिंह ने बताया कि स्व-रोजगार का पेशा कितना लाभदायक साबित हो सकता है इसकी मिसाल गांव आजम वाला के मलकीत सिंह ने कायम की है जोकि स्वास्थ्य पक्ष से कमजोर होने के बावजूद भी अपने माता-पिता का सहारा बना हुआ है।

मलकीत सिंह कहता है कि उसका परिवार बीसी जाति के साथ संबंध रखता है। उसकी पारिवारिक आमदन कम होने से उसके घर के वित्तीय हालात बढ़िया नहीं थे। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद उसने अपना नाम जिला रोजगार और कारोबार ब्यूरो में दर्ज करवाया था जिसके उपरांत ब्यूरो के द्वारा पंजाब अनुसूचित जाति भू विकास एवं वित्त निगम के साथ संपर्क किया गया। उसने बताया कि विभाग द्वारा 40 प्रतिशत से अधिक वाले दिव्यांगों के लिए चलाई जा रही नेशनल हैंडीकैप्ड फाइनेंस डेवलपमेंट कर्ज स्कीम के अंतर्गत उसको कर्ज मुहैया करवाया गया।

मलकीत सिंह को स्व-रोजगार का कारोबार करने के लिए विभाग ने 2 लाख रुपए का कर्ज दिया गया। दिव्यांग होने के बावजूद हमेशा उसने सकारात्मक सोच रखी और उसने गांव में किराने का कारोबार किया। वह बताता है कि कारोबार करने के साथ उसको अच्छी आमदन होने लगी और उसके पारिवारिक हालात भी आगे की अपेक्षा सुधर गए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser