रोष:अनिश्चतकालीन हड़ताल पर गए पनबस, पीआरटीसी कर्मचारी, कैबिनेट की बैठक में मांगे नहीं मानने से रोष

फाजिल्काएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिस कारण कर्मचारियों को मजबूरन 7 दिसंबर से अनिश्चतकालीन समय की हड़ताल पर जाना पड़ा

पंजाब रोडवेज पनबस/पीआरटीसी कांट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन ने मांगों को लेकर बसों का चक्का जाम कर दिया। फाजिल्का डीपो प्रधान मनप्रीत सिंह, प्रितपाल सिंह गुरबख्श लाल व दिलजीत सिंह ने कहा कि पनबस और पीआरटीसी की हड़ताल पंजाब सरकार द्वारा जानबूझ कर करवाई गई है क्योंकि यूनियन द्वारा इस संबंधी नोटिस जारी किया गया था और 22 नवंबर को ट्रांसपोर्ट मंत्री पंजाब के साथ हुई मीटिंग में भी क्लियर किया गया था कि यदि समस्या का हल न किया तो वर्कर तुरंत हड़ताल पर चले जाएंगे।

परंतु कैबिनेट मीटिंग में हल नहीं किया गया और नेता की तरफ से पहले मंत्री के पीए फिर ओएसडी के साथ फोन पर संपर्क किया गया। हल न होने पर अपने संघर्ष का ऐलान किया। जिस कारण कर्मचारियों को मजबूरन 7 दिसंबर से अनिश्चतकालीन समय की हड़ताल पर जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि पहले मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने 14 सितंबर को पक्का करन का भरोसा दिया फिर 6 अक्तूबर को नए ट्रांसपोर्ट मंत्री राजा अमरिन्दर सिंह वड़िंग ने भरोसा दिया फिर 12 अक्तूबर को मुख्य मंत्री पंजाब चरनजीत सिंह चन्नी ने भरोसा दिया कि आपको 20 दिन में पक्का किया जाएगा, परंतु नया एक्ट आने के बाद यह स्पष्ट हो गया कि ट्रांसपोर्ट विभाग का एक भी कर्मचारी पक्का नहीं होगा।

खबरें और भी हैं...