आह्वान किया:रिक्शा व टैंपो चालकों को सामाजिक बुराइयों के खिलाफ किया जागरूक

फाजिल्का24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लड़कियों को भी लड़कों की तरह आगे बढ़ने के अवसर देने का किया गया आह्वान

फाजिल्का की दो बहनों जन्नत कंबोज और तमन्ना की तरफ से अपने परिजनों के सहयोग से शहर में 75 दिन के लिए स्वच्छ वातावरण के पक्ष में और सामाजिक बुराइयों के खिलाफ शुरू अभियान रंगला बंगला फाजिल्का चेंज वन स्टैप के तहत शहर में टैंपो व रिक्शा चालकों को जागरूक किया गया। इस दौरान वह शहर के मुख्य बस स्टैंड के पास टैंपो व रिक्शा चालकों के संगठनों के पास पहुंचे, जहां उन्होंने चालकों को जागरूक किया।

इस दौरान तमन्ना ने कहा कि रिक्शा व टैंपो चालक दिन भर कड़ा परिश्रम करते हैं, जिस कारण वह अपने बच्चों के साथ अधिक समय नहीं बिता पाते। उन्होंने कहा कि जब भी परिजनों के पास समय हो तो बच्चों को अच्छी तालीम के लिए प्रेरित करें ताकि उनके बच्चे बड़े होकर देश सेवा में अपना अहम व ईमानदारी से योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि वह बाल मजदूरी, बाल विवाह और नशे जैसी बीमारियों से गुरेज करें और बच्चों का भविष्य सुधारने में ध्यान दें। उन्होंने कहा कि जब उन्हें समय मिले तो वह बच्चों को खेलों के फायदे बिताएं और बेटियों को सैल्फ सुरक्षा के बारे में बताएं ताकि उनके बच्चे हमेशा तंदरुस्त रहें और अपनी सुरक्षा खुद कर सकें। इस दौरान उन्होंने सरकार की तरफ से बच्चों व लड़कियों की सुरक्षा के लिए जारी हेल्प लाइन नंबर भी बताए। इस मौके पर स्थानीय इतिहासकार लछमण दोस्त ने उन्हें वातावरण को स्वच्छ बनाने, प्लास्टिक व पॉलीथीन का प्रयोग न करने के अलावा कई अन्य सामाजिक बुराइयों के खिलाफ जागरूक किया।

खबरें और भी हैं...