पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एनएचएम कर्मियों ने की हड़ताल:कहा-रेगुलर करे सरकार, वार्षिक 15 प्रतिशत इंक्रीमेंट और सेहत विभाग में नए पदों में 50 प्रतिशत आरक्षण मंजूर नहीं

फाजिल्का2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाजिल्का में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते एनएचएम कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
फाजिल्का में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते एनएचएम कर्मचारी।

एनएचएम कर्मचारियों ने मांगों को लेकर फिर से हड़ताल शुरू कर दी है। वीरवार को फाजिल्का में एनएचएम कर्मचारियों की हड़ताल से काम बंद रहा, जिस कारण इमरजेंसी सेवाएं लेने आए मरीजों को परेशानी उठानी पड़ी।

कर्मचारियों ने बताया कि 4 मई को अनिश्चितकालीन समय के लिए हड़ताल का फैसला लिया था, जिसका उद्​देश्य एनएचएम कर्मचारियों को सर्व शिक्षा अभियान की तर्ज पर रेगुलर कराना और आउटसोर्स कर्मचारियों को एनएचएम के तहत लाकर बाद में पॉलिसी के अधीन पक्का करना है। स्वास्थ्य विभाग पंजाब के नेशनल हेल्थ मिशन में करीब 9000 कर्मचारी 10 से 15 साल से कम वेतन पर काम कर रहे हैं, लेकिन रेगुलर नहीं किया जा रहा।

पांच मई को सेहतमंत्री पंजाब व मिशन डायरेक्टर एनएचएम ने कर्मचारियों से अपील की थी कि वह हड़ताल पर न बैठें और ड्यूटी पर लौट जाएं। जल्द मांगों को पूरा किया जाएगा, लेकिन पांच मई को सेहत मंत्री पंजाब व मिशन डायरेक्टर पंजाब के साथ बैठक के दौरान कर्मचारियों को रेगुलर करने की बजाए वार्षिक 15 प्रतिशत इंक्रीमेंट व सेहत विभाग में आने वाले पदों पर 50 प्रतिशत आरक्षण देने की बात कही गई। हड़ताल खत्म करने की अपील की जाती है, जिसके साथ फाजिल्का एनएचएम का समूह स्टाफ सहमत नहीं है।

हड़ताल का मुख्य उद्​देध्य एनएचएम कर्मचारियों को रेगुलर कराना है, नाकि इंक्रीमेंट लेना। अगर मांग नहीं मानी जाती तो मुकम्मल बंद कर अनिश्चितकालीन समय के लिए हड़ताल की जाएगी। उन्होंने कहा कि अब हकों की अनदेखी को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। इस मौके मलकीत सिंह, एलटी पूजा, गगनदीप कौर, हरप्रीत कौर, मदन कुमार, चाइना, बलजीत सिंह व अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...