पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रक्षाबंधन:भाई को तिलक लगाते समय बहन का मुंह पश्चिम दिशा में हाे : पं. जोशी

मुक्तसर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राखी बांधने का शुभ मुहूर्त प्रात: 9.28 से लेकर रात 9.14 तक

रक्षाबंधन का पवित्र त्याेहार सोमवार काे मनाया जाएगा। यह त्याेहार हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि के दिन मनाया जाता है। इस बार रक्षाबंधन के अनुष्ठान का शुभ मुहूर्त प्रात: 9.28 से लेकर रात 9.14 बजे तक है। इस बीच अपराह्न काल का वक्त है दोपहर 1.46 से शाम 4.26 प्रदोष काल है। शाम 7.06 बजे से रात-9.14 बजे तक। पूर्णिमा तिथि समाप्त होगी रात 9.27 बजे। इसलिए इस बार रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त सुबह 9.28 बजे से रात के 9.14 बजे तक कर सकते हैं। यह जानकारी गांधी नगर में पं. पूरन चंद्र जोशी ने रक्षाबंधन को लेकर जानकारी देते हुए दी।

उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन के दिन सुबह उठकर स्नान करें। साफ वस्त्र धारण करें और घर को साफ-स्वच्छ रखें। पूजा की थाली सजा कर भाई को आसन पर पूर्व दिशा को मुंह कर बैठाएं। थाली में तिलक रक्षा (राखी ) चावल फूल मिठाई दीप जलाकर रखें। भाई को तिलक लगाते समय बहन का मुंह पश्चिम दिशा की ओर हो। अगर बहन बड़ी हो तो छोटे भाई को आशिर्वाद दे।

अगर बहन छोटी हो तो बड़े भाई को प्रणाम करे। पं. जोशी के अनुसार एक पौराणिक कथा के अनुसार राजसूय यज्ञ के समय भगवान श्री कृष्ण को द्रौपदी ने रक्षा सूत्र के रूप में अपने आंचल का टुकड़ा बांधा था। इसी के बाद से बहनों द्वारा भाई को राखी बांधने की परंम्परा शुरू हुई। रक्षा बंधन के दिन ब्राह्मणों के द्वारा अपने यजमानों की शुभ मंगल मय कामना के लिए भी रक्षा सूत्र बांधने का विधान है। रक्षा बंधन का पावन दिन विद्या प्राप्ति का आरंम्भ करने के लिए बहुत शुभ माना गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें