प्रांत स्तरीय हड़ताल में एनएचएम कर्मियों ने लिया भाग:11000 कर्मचारी बहुत ही कम वेतन पर कर रहे कार्य, वर्करों में रोष

फिरोजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हड़ताल के दौरान प्रदर्शन करते हुए एनएचएम के कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
हड़ताल के दौरान प्रदर्शन करते हुए एनएचएम के कर्मचारी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य कमीशन (एनएचएम) पंजाब के ठेका आधारित व आउटसोर्स कर्मचारियों को रेगुलर करने संबंधी एनएचएम इंप्लाइज यूनियन पंजाब द्वारा प्रांत स्तरीय हड़ताल में जिला मुक्तसर के समूचे स्वास्थ्य विभाग के एनएचएम अधीन कॉन्ट्रैक्ट आउटसोर्स कर्मचारियों ने शमूलियत की।

इस दौरान गुरप्रीत भुल्लर प्रांतीय अध्यक्ष, एनएचएम इंप्लाइज यूनियन पंजाब ने कहा कि राज्य सरकार स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को कोरोना योद्धाओं का खिताब तो दे रही है, परंतु इन्हें रेगुलर न करके इनसे कोजा मजाक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग पंजाब में एनएचएम अधीन कांट्रेक्ट व आउटसोर्स कर्मचारियों द्वारा गत 15-16 वर्षाें से लगभग 11000 कर्मचारी क्लेरीकल, मेडिकल व पैरामेडिकल कर्मचारी बहुत ही कम वेतन पर कार्य कर रहे हैं। हर बार सरकारों द्वारा कच्चे कर्मियों को रेगुलर करने संबंधी झूठे वादे किए जाते हैं, परंतु इनके द्वारा कच्चे कर्मचारियों को अभी तक पक्का नहीं किया गया। इतनी कम वेतन पर दिन ब दिन बढ़ रही महंगाई में गुजारा करना बहुत मुश्किल है।

स्वास्थ्य विभाग के समूचे कर्मचारी दिन-रात छुट्टी वाले दिन भी आम जनता की भलाई के लिए कार्य कर रहे हैं, परंतु राज्य सरकार इन कर्मचारियों को रेगुलर करने में गंभीर नहीं है। इस कारण आज एक दिन की सांकेतिक हड़ताल में समूचे एनएचएम व आउटसोर्स पर कार्य कर रहे कर्मचारियों द्वारा हड़ताल की गई।

उन्होंने कहा कि एनएचएम अधीन कार्य करते समूह प्रोग्रामों के कर्मचारियों सहित आउटसोर्स कर्मचारियों को पंजाब सरकार द्वारा स्वास्थ्य विभाग में रेगुलर किया जाए और स्वास्थ्य विभाग अधीन कार्य कर रही आशा फैसिलिटेटरों व आशा वर्करों को हरियाणा राज्य की तर्ज पर मानभत्ता दिया जाए ताकि कर्मचारियों का मनोबल कायम रह सके व अपने परिवार का गुजारा अच्छी तरह कर सके और मानसिक व आर्थिक परेशानी से बाहर आ सके। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों को रैगुलर करने का नोटिफिकेशन जारी नहीं करती तो आने वाले समय में सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। इस अवसर पर एनएचएम सुनील कुमार, गगनदीप कौर, रवि कुमार, कुमार गौरव व अन्य एनएचएम कर्मचारी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...