लिफ्टिंग की धीमी रफ्तार:जिले में खुले में पड़े 3,78,219 टन गेहूं को उठान का इंतजार

फिरोजपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनाज मंडियों में लिफ्टिंग की धीमी रफ्तार से किसानों की उपज के उठान में हो रही देरी

जिले के 189 खरीद केंद्रों में अब तक 7,04,83 मीट्रिक टन गेहूं की आवक हुई है। इसमें से 6,97,294 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। खरीदी गई गेहूं में से मात्र 3,25,864 मीट्रिक टन गेहूं की लिफ्टिंग हुई है जिसके चलते 3,78,219 मीट्रिक टन गेहूं की लिफ्टिंग बाकी है। जिले में अब तक 46,708 किसानों की गेहूं की खरीद की जा चुकी है।

वीरवार को सुबह करीब 10 बजे एकाएक बादल छाने से फिर से मंडी अधिकारियों के पसीने छूटने लगे क्योंकि मंडियों में 75,64,380 बोरी गेहूं खुले आसमान तले पड़ा है। दोपहर करीब 2.30 बजे जब फिर से धूप खिली ताे अधिकारियों की सांस में सांस आई। जिले के खरीद केंद्रों में 5 खरीद एजेंसियों पनग्रेन की ओर से 2,36,686 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है।

इसमें से 1,03,980 एमटी की लिफ्टिंग हुई है। मार्कफेड की ओर से 1,84,099 एमटी की खरीद हुई है तो 81,109 एमटी की लिफ्टिंग हुई है। पनसप की ओर से 1,59,420 एमटी गेहूं की खरीद की गई है।

इसमें से 61,655 एमटी की लिफ्टिंग की गई है। पीएसडब्लयूसी की ओर से 98,566 एमटी की खरीद हुई है जिसमें से 66,530 एमटी की लिफ्टिंग हुई है। एफसीआई की ओर से 17,403 एमटी की खरीद की गई है जिसमें से 11,470 एमटी की लिफ्टिंग हुई है। फसल की खरीद न होने के कारण किसान रात को फसल की रखवाली कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...