पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना को किक:60 लड़कियां सुबह-शाम 4 घंटे करने लगीं प्रैक्टिस, अंडर 14-17 का चयन इन्हीं में से होगा

फिरोजपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन में ढील, खेलने की इजाजत मिली तो ये लड़कियां कोरोना का डर छोड़ मैदान में उतरीं
  • 5000 आबादी वाले बजीदपुर की लड़कियों को सरपंच कर रहे प्रोत्साहित, स्पोर्ट्स टीचर कराती हैं प्रैक्टिस

(महेंद्र घणघस) नई पीढ़ी को कोई प्रोत्साहित करने के लिए आगे आए तो निश्चित तौर पर परिणाम सार्थक ही निकल कर सामने आते हैं। इसका उदाहरण गांव बजीदपुर से लिया जा सकता है। जी हां गांव की पंचायत ने कोरोना काल में इम्युनिटी पाॅवर बढ़ाने के लिए खेलों का आयडिया आजमा कर देखा। बजीदपुर के सरपंच बलविंद्र कुमार शर्मा को मास्टर ईश्वर दास ने गांव में खेलों को बढ़ावा देने का आयडिया दिया। ताकि गांव की युवा पीढ़ी की इम्युनिटी पॉवर बढ़े और खेलों का माहौल बनने के बाद गांव में नशों से छुटकारा मिले।

सरपंच के प्रयासों से पहले चरण में लड़कियों को खेल मैदान में लाने का बीड़ा उठाया गया। पहले चरण में लड़कियों को फुटबाल के मैदान में लाने का विचार किया। मात्र एक माह में इस मैदान में 60 से अधिक गांव की लड़कियां पहुंचने लगी हैं। सुबह-शाम दो-दो घंटे फुटबाल खेलकर इस गांव की लड़कियां अब खेलों में आगे बढ़ने के लिए अग्रसर हो चुकी हैं।

सामाजिक बंदिशों के चलते गांवों में आमतौर पर लड़कियों को खेल मैदान में भेजने से परहेज किया जाता है, पर इस गांव की लड़कियों के जज्बे के आगे तमाम सामाजिक बंदिशें बौनी पड़ गई हैं और लोग अब खुशी से अपनी लड़कियों को खेलने के लिए मैदान में भेज रहे हैं। 15 अगस्त को गांव की 5 लड़कियां मैदान में पहुंची उसके बाद संख्या हर रोज बढ़ती गईं और अब यह संख्या 60 से अधिक हो गई हैं।

लड़कियों का खेलों के प्रति रुझान देखकर गांव के खेल प्रेमियों ने भी सहयोग देना शुरू कर दिया और लड़कियों की कोचिंग के लिए तीन महिला फुटबाल कोच नियुक्त कर दिए। इसके अलावा सरकारी स्कूल की शारीरिक शिक्षा विषय की प्रवक्ता जसबीर कौर भी लड़कियों के मार्ग दर्शन के लिए प्रत्येक रोज सुबह-शाम मैदान में आने लगी हैं।

एक महीने के लिए लगा कैंप, लड़कियों की रुचि को देखते हुए अब हमेशा चलेगी प्रैक्टिस

यह फुटबाल कैंप एक माह के लिए लगाने का कार्यक्रम तय किया गया था पर अब लड़कियों की रुचि को देखते हुए इसे स्थाई तौर पर जारी रखने का न केवल पंचायत ने निर्णय ले लिया है बल्कि लड़कियों को खेलों से संबंधित हर प्रकार की सुविधा प्रदान करने का भी वादा पंचायत ने किया है। खेल प्रेमियों की ओर से भी पंचायत को हर प्रकार का सहयोग देने की पेशकश की गई है ताकि इस लड़कियां नेशनल लेवल पर ही नहीं बल्कि इंटरनेशनल लेवल पर भी अपनी प्रतिभा का जौहर दिखा सकें।

खेल से मांसपेशियां मजबूत होती हैं, इम्युनिटी बढ़ती है : डॉ. अरोड़ा

डॉ केसी अरोड़ा ने कहा कि किसी भी प्रकार की शारीरिक एक्सरसाइज करने से न केवल शरीर की मांस पेशियों को मजबूती मिलती है बल्कि हमारा इम्युनिटी पॉवर भी बढ़ता है। खेल से शारीरिक मजबूती के साथ-साथ मानसिक मजबूती भी मिलती है। फुटबाल खेल में खिलाड़ी को काफी दौड़ लगानी पड़ती है जिससे शरीर के अंदर के हर हिस्से को लाभ होता है। बस खेलकाल के दौरान प्रॉपर डाइट का ध्यान रखना जरूरी है। योगा, मॉर्निंग वॉक भी शारीरिक लाभ देते हैं। खास तौर पर फुटबाल खेल शरीर को तंदुरुस्त रखने के लिए बहुत ही कारगर साबित होता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें