पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हड़ताल से परेशानी:600 एनएचएम कर्मी हड़ताल पर, कोरोना की सैंपलिंग और वैक्सीनेशन प्रभावित, नर्सिंग छात्र दे रहे ड्यूटी

फिरोजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्टाफ की कमी से 2-2 दिन तक नहीं मिल पा रहा सैंपलिंग एसआरएफ नंबर

पिछले तीन दिन से रैगुलर करने सहित अन्य मांगों को लेकर 600 एनएचएम कर्मचारी हड़ताल पर चल रहे हैं। इससे कोरोना फ्रंटलाइन पर किए जाने वाले सभी काम प्रभावित हो रहे हैं। एनएचएम कर्मियों के हड़ताल पर जाने के चलते सैंपलिंग व वैक्सीन की प्रक्रिया की गति धीमी पड़ गई है। स्टाफ की कमी हो जाने के चलते अब सैंपलिंग करवाने वाले लोगों को 2-2 दिन तक उनका सैंपलिंग एसआरएफ नंबर तक नहीं मिल पा रहा जिसके चलते लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है।

हालांकि स्वास्थ्य विभाग की ओर से नर्सिंग कॉलेजों के साथ संपर्क कर वहां के नर्सिंग छात्रों को कार्य पर लगाया गया है मगर उनकी ओर से कार्य में उतनी गति न होने के चलते बहुत लोगों को परेशानी हो रही है। वीरवार को 224 नए केस आने से अब जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8398 हो गई है । 61 कोरोना पॉजिटिव लोगों के रिकवर होने के चलते अब तक 6907 लोग रिकवर हो चुके हैं। वीरवार को 4 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो जाने से जिले में अब तक 241 पॉजिटिव मरीजों की मौत हो चुकी है। अब जिले में 1255 कोरोना पॉजिटिव केस एक्टिव हैं।

दुकानें खोलने के दिए समय से दुकानदार खुश नहीं
कोरोना केसों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकार की ओर से विभिन्न प्रकार की पाबंदियां लगाई गई हैं जिनका लोग विरोध कर रहे हैं। हालांकि सरकार की ओर से लोगों के विरोध को देखते हुए बाजारों में जरूरी सेवाओं से संबंधित दुकानों को सप्ताह के सात दिन तो अन्य दुकानदारों को सोमवार से शुक्रवार सुबह 9 से शाम 5 बजे तक का समय दिया है मगर लोग इससे संतुष्ट नहीं हैं। शहर का सिविल अस्पताल ही लोगों को कोरोना बांट रहा है। प्रतिदिन कोरोना की सैंपलिंग व वैक्सीनेशन के लिए सैंकड़ो की संख्या में लोग सिविल अस्पताल पहुंचते हैं मगर वहां लगी लोगों की कतारों में कइयों के तो मास्क ही नहीं होते व कतारों में सोशल डिस्टैंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ती हैं जिस पर किसी का ध्यान नहीं है। इस पर सिविल अस्पताल प्रबंधन ध्यान दे।

मई के 6 दिन में कोरोना के 777 नए केस मिले, 22 पॉजिटिव लोगों की मौत
बीते 6 दिन की बात करें तो मई के 6 दिनों में 777 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं तो 22 कोरोना पॉजिटिव लोगों की मौत हो चुकी है। वीरवार को ब्लॉक फिरोजशाह निवासी 54 वर्षीय महिला व 86 वर्षीय व्यक्ति, ब्लॉक ममदोट निवासी 37 वर्षीय व्यक्ति व ब्लॉक फिरोजपुर अर्बन निवासी 63 वर्षीय वृद्ध महिला की मौत हो गई। वीरवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले में 1178 कोरोना सैंपल जांच के लिए भेजे गए।

अब तक 1 लाख 37 हजार 530 सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे गए हैं जिसमें से 1 लाख 28 हजार 232 सैंपलाें की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है व 900 सैंपलों की रिपोर्ट पैंडिंग है। वीरवार को 1518 लोगों ने कोरोना की वैक्सीन लगवाई। जिलेभर के वैक्सीन सेशन साइटों पर 60 वर्ष से अधिक आयु के 236 ने पहली तो 58 वृद्धों ने दूसरी, 45 से 60 वर्ष के 461 ने पहली तो 159 लोगों ने दूसरी, 101 हेल्थ वर्करों ने पहली तो 27 ने दूसरी व 415 फ्रंटलाइन वर्करों ने पहली तो 61 ने दूसरी डोज लगवाई। अब तक 78,130 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है।

मुक्तसर में कोरोना से 10 लोगों की मौत, 286 नए केस मिले
मुक्तसर|वीरवार को मुक्तसर जिले में कोरोना के 286 नए केस मिले, वहीं 10 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। जिले में कुल पाॅजिटिव केस 9575 हैं। अब तक 6706 कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं। जिले में एक्टिव केस 286 हैं। आज 163 कोरोना मरीजों को छुट्‌टी मिली। कोरोना से अब तक 193 लोगों की जान जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...