पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुतला दहन:आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने गांव स्तर पर फूंके पंजाब सरकार के पुतले

गुरु हरसहाए9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ऑल पंजाब आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष हरगोबिंद कौर और प्रदेश कमेटी के आह्वान पर गांवों में पंजाब सरकार के पुतले फूंके गए । तय प्रोग्राम के तहत गांव गुरु हरसहाए, मंडी गुरु हरसहाए, तल्ले वाला, चुघा, खेरे के, पंजे के में यूनियन की ब्लॉक अध्यक्ष कुलजीत कौर की अगुवाई में आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने पंजाब सरकार के पुतले फूंके। यूनियन के नेताओं ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से ईजीएस वालंटियर को नर्सरी टीचर का दर्जा दिया गया है और आंगनबाड़ी वर्कर नर्सरी टीचर का दर्जा लेने के लिए पिछले लंबे समय से संघर्ष करती आ रही है।

उन्होंने कहा कि वर्कर और हेल्पर में इस प्रति गुस्से की लहर है। उन्होंने आरोप लगाया कि पहले सरकार ने आंगनबाड़ी सेंटरों के बच्चे छीन के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में दाखिल कर लिए हैं और हुए समझौते अनुसार वापस नहीं किए गए और अब नर्सरी टीचर का दर्जा भी छीना जा रहा है। जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । उन्होंने बताया कि जत्थेबंदी की और से 2 अक्टूबर को चंडीगढ़ में प्रदेश स्तर पर रैली की जा रही है ।

नेताओं ने मांग की आंगनबाड़ी सेंटरों के 3 वर्ष से 6 वर्ष तक के बच्चे जो सरकार ने 2017 में छीन के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में भेजे गए थे को हुए समझौते अनुसार वापस सेंटरों में भेजे जाएं और वर्करों को नर्सरी टीचर का दर्जा दिया जाए, पंजाब की आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों को हरियाणा पैटर्न पर मान भत्ता दिया जाए । पीएमवीवाई के 2017 से पेंडिंग पड़े पैसे रिलीज किए जाएं । एनजीओ के अधीन चल रहे ब्लाकों को वापस विभाग अधीन लाया जाए । बालन के पैसे जो प्रति लाभपात्र 40 पैसे मिलते है, वह एक रुपए किया जाए ।

खबरें और भी हैं...