पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रदर्शन:रेल रोको आंदोलन के खिलाफ रिट डालने व दिल्ली बुला बिना मीटिंग वापस भेजने से गुस्साए किसानों ने पीएम व सीएम का फूंका पुतला

फिरोजपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 22वें दिन किसानों का धरना जारी रहा, बोले- सरकार न्यायपालिका के जरिए रेल रोको धरना हटाने की रच रही साजिश

वीरवार को बस्ती टैंकावाली में रेलवे ट्रैक पर धरने के 22वें दिन किसान यूनियन की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह का पूतला फूंककर रोष प्रदर्शन किया गया। धरने में शामिल किसानों ने आंदोलनकारियों के खिलाफ हाईकोर्ट में रिट डालने वाली केंद्र सरकार के साथ मिली कैप्टन सरकार व किसानों को दिल्ली बुलाकर उन्हें बेइज्जत करने पर केंद्र सरकार के खिलाफ किसानों ने नारेबाजी की।

किसान यूनियन पदाधिकारियों ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार प्रदेश में रेल रोको आंदोलन कर रही किसान मजदूर जत्थेबंदियों के खिलाफ हाईकोर्ट में रिट डालकर किसान विरोधी होने का सबूत दे रही है। केंद्र सरकार के साथ मिली भगत करने वाली कैप्टन सरकार ने 29 किसान जत्थेबंदियों को दिल्ली बुलाकर बेइज्ज्त व अपमानित किया है इसी के चलते आज केंद्र व प्रदेश सरकार के रेलवे ट्रैक पर पूतले फूंके गए हैं।

इस दौरान हरियाणा में खट्टड़ सरकार की ओर से आंदोलनकारियों पर दर्ज किए गए केसों की सख्त शब्दों में निंदा की गई। यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष सतनात सिंह पन्नू, गुरलाल सिंह, सविंद्र सिंह, गुरमेज सिंह, श्रवण सिंह व रणबीर सिंह ने कहा कि कैप्टन सरकार एक तरफ पास किए गए कृषि कानूनों का विरोध कर किसानों के साथ होने का दम भर रही है दूसरी ओर उनके आंदोलन को दबाने के लिए हाईकोर्ट में रिट दाखिल कर न्यायपालिका के जरिए रेल रोको धरना हटाने की साजिश रच रही है।

इस तरह कैप्टन सरकार का चेहरा नंगा हो गया है। किसान यूनियन पदाधिकारियों ने कहा कि केंद्र सरकार एक तरफ 29 किसान यूनियनों के पदाधिकारियों को 14 अक्टूबर को दिल्ली में मीटिंग के लिए बुलाकर बेइज्जत करती है तो दूसरी ओर 8 केंद्रीय मंत्री किसान यूनियन पदाधिकारियों से मीटिंग करने की बजाए प्रदेश में किसानों को कृषि कानूनों के फायदे समझाने के लिए वर्चुअल रैली कर रहे हैं। इस तरह केंद्र का किसान विरोधी, पंजाब विरोधी व अडानियों, अंबानियों के पक्ष रूपी चेहरा पूरी तरह बेपर्दा हो गया है। किसान यूनियन पदाधिकारियों ने देश व प्रदेश में गदर मचाने की चेतावनी दी।

इसके साथ ही यूनियन पदाधिकारियों ने प्रदेश व देश के किसानों को चल रहे संघर्ष में परिवारों सहित शामिल होने का न्यौता देते हुए जोरदार मांग की है कि पंजाब सरकार हाईकोर्ट में आंदोलनकारियों के खिलाफ डाली गई रिट को तुरंत वापस ले, उक्त तीनों कृषि कानून रद़द किए जाएं जोकि किसानों को किसी भी कीमत पर मंजूर नहीं है। इस माैके पर जरनैल सिंह, तरसेम सिंह, मुख्त्यार सिंह, जसवंत सिंह, हरप्रीत सिंह, खलारा सिंह, हरपाल सिंह सहित अन्यों ने संबोधित किया।

सरकार किसानों के साथ कर रही मजाक : जगराज

मल्लांवाला. नौजवान नेता जगराज सिंह नारोके कि केंद्र सरकार ने किसान जत्थे बंदियों को दिल्ली बुलाकर बात न करने से किसानों के मन में और भी ज्यादा रोष प्रगट हो गया है। क्योंकि केंद्र सरकार ने अपनी गलती सुधारने की बजाय उसको किसानों के जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया है । इसलिए अब केंद्र सरकार को किसानों से बात करने के लिए पंजाब में ही आना पड़ेगा। किसानों का केंद्र सरकार से विश्वास टूट गया है।

केंद्र सरकार जल्द से जल्द इन तीन कानूनों को रद्द करे। उन्होंने मांग की केंद्र सरकार को जल्द से जल्द किसानों की मांगों को पूरा करके माहौल को सही करना चाहिए । जुगराज सिंह ने कहा अगर पंजाब का नौजवान सही रास्ते से भटक गया तो हालात खराब होने की वजह केंद्र की मोदी सरकार होगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें