पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संकीर्तन:गुस्से में किसी को न कहें बुरा, बाद में पड़ता है पछताना : स्वामी विवेकानंद

मुक्तसर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

श्री मोहन जगदीश्वर आश्रम कनखल हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी दिव्यानंद जी महाराज के सेवक स्वामी विवेकानंद गिरि महाराज ने कहा कि मनुष्य को कोई बात बोलने से पहले सौ बार सोच-विचार करना चाहिए कि कहीं उसके द्वारा कही गई बात से किसी के मन को ठेस तो नहीं पहुंच रही है। अकसर होता है कि गुस्से में मनुष्य सामने वाले को काफी बुरा-भला कह जाता है मगर बाद में उसे खुद पछतावा होता है। स्वामी विवेकानंद जी महाराज ने ये विचार अबोहर रोड स्थित श्री मोहन जगदीश्वर दिव्य आश्रम में माघ महात्म्य एवं श्रीमद्भागवत कथा में व्यक्त किए।

स्वामी विवेकानंद ने कहा कि भारत देश की भूमि पीरों-पैगम्बरों, गुरुओं तथा शूरवीरों की धरती है। जब-जब धरती पर पाप बढ़ा है या किसी दुष्ट द्वारा गरीबों पर अत्याचार किए गए हैं तब-तब भगवान ने किसी न किसी रुप में धरती पर अवतार लिया और दुष्टों का संहार किया। किसी का अनिष्ट करना और दूसरों के हक की कमाई पर कब्जा करना महापाप है। जो सच्चे मन से भगवान का पूजन, भजन, सिमरन, संकीर्तन करता है उसके सभी पाप, विघ्न और सभी प्रकार के दोषों का नाश हो जाता है तथा वह जन्म-मरण के बंधन से भी मुक्त हो जाता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें