पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म:मनुष्य तन मिला है तो करें इसका सम्मान, न करें जीवन में अभिमान : स्वामी दिव्यानंद महाराज

मुक्तसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्री मोहन जगदीश्वर दिव्य आश्रम में माघ महात्म्य एवं श्रीमद्भागवत कथा आयाेजित

श्री मोहन जगदीश्वर आश्रम कनखल हरिद्वार के अनंत श्री विभूषित 1008 महामंडलेश्वर स्वामी दिव्यानंद गिरि जी महाराज ने माघ महात्म्य कथा दौरान प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए कहा कि मनुष्य विश्व का सर्वश्रेष्ठ प्राणी है।

लाखों योनियों में भटकने के बाद प्राप्त हुए मानव तन को पाकर इसका सम्मान करना चाहिए। मनुष्य को न्याय व अन्याय का अंतर कर नीति व न्याय के पक्ष का अवलंबन करना चाहिए। यदि मनुष्य में मानवता का जरा भी अभिमान हो तो ये व्रत लेना चाहिए कि चाहे अभावों भरा जीवन क्यों न व्यतीत करना पड़े, परंतु अनीति व अन्याय से न तो धन अर्जित करेंगे और न ही ऐसे धन का प्रयोग करेंगे।

महामंडलेश्वर स्वामी जी ने ये विचार अबोहर रोड स्थित श्री मोहन जगदीश्वर दिव्य आश्रम में माघ महात्म्य कथा के दौरान प्रवचनों की अमृतवर्षा करते हुए श्रद्धालुओं के विशाल जनसमूह के समक्ष व्यक्त किए। स्वामी जी महाराज ने कहा कि भगवान जब देते हैं तो भक्त को चारों हाथों से लुटाते हैं और जब भगवान भक्तों की परीक्षा लेते हैं तो दीन-हीन, गरीब, अनाथ या फिर भिक्षु बनकर द्वार पर आकर याचना करते हैं। उस वक्त भगवान के दिए पदार्थों में से व्यक्ति उदारता से भिक्षा नहीं देता है तो भगवान नाराज होते हैं।

उन्होंने कहा कि किसी को कुछ न भी दे सके तो चलेगा, पर किसी का अपमान हो ऐसा व्यवहार कभी करना नहीं चाहिए। किसी का दिल दुखे, ऐसी घटना होने से पहले ही व्यक्ति को बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। बुद्धि जब तक सात्विक श्रद्धा से सराबोर नहीं होती तब तक मन साधना में नहीं लगता। समय मिले तो तीर्थों में जाकर अच्छे और सच्चे संत की संगति करके मन को सात्विक बनाना चाहिए। अनुष्ठान करने के लिए स्थान भी धार्मिक हो तो ही फल मिलता है।

वहीं, महामंडलेश्वर स्वामी दिव्यानंद गिरि जी महाराज ने कहा कि भगवद् कथा मन की मलीनता को सहज ही दूर कर देती है। यदि मानव के मन में भगवान, भक्ति व संत मिलन की आस जगी है तो आप समझिए कि भगवान आपके आस-पास ही हैं। आंखें खोलिए, दो-चार कदम उठाइये और भगवान प्राप्त हो जाएंगे। कथा सुनने से ही भगवद् दर्शन की आकांक्षा जागृत होती है। कथा भगवान के स्वरुप व स्वभाव का वर्णन करती है। इस मौके बड़ी गिनती में श्रद्धालु मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें