पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का असर:फिरोजपुर कैंट से मोहाली जाने वाली ट्रेन सहित कई रेलगाड़ियां बंद

फिरोजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीआरएम बोले-संक्रमण के फैलाव के चलते यात्रियों के कम आने से बंद की ट्रेनें, हालात सुधरने पर फिर शुरू कर देंगे

फिरोजपुर मंडल की ओर से जिन रेलगाड़ियों में यात्रियों की संख्या काफी कम हो गई थी उन्हें फिलहाल बंद कर दिया गया ह। मंडल रेल प्रबंधक राजेश अग्रवाल ने बताया कि अमृतसर से चलकर नई दिल्ली जाने वाली दो जोड़ी शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द किया गया है। जम्मूतवी से चलकर दिल्ली सराय रोहिल्ला, योग नगरी ऋषिकेश तथा हजूर साहिब नांदेड जाने वाली तीन जोड़ी ट्रेनों को रद्द किया गया है।

माता वैष्णो देवी कटरा से 6 जोड़ी ट्रेनों को रद्द किया है जिनमें तीन नई दिल्ली और अन्य तीन ऋषिकेश, अहमदाबाद तथा डॉ. अम्बेडकर नगर जाती थी। फिरोजपुर कैंट से मोहाली जाने वाली ट्रेन को भी रद्द कर दिया गया है। इन ट्रेनों को अगले आदेशों तक के लिए बंद किया है। जैसे ही स्थिति में सुधार आएगा, तुरंत बहाल कर दिया जाएगा। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि कोविड महामारी की संक्रमण की रोकथाम में गाइडलाइंस का पालन करें। टेस्ट कराकर ही यात्रा करें। यात्रा के दौरान दूरी बनाए रखें।

यात्रियों से अपील-कोविड टेस्ट करवाकर ही यात्रा करें, मास्क जरूर पहनें और ट्रेन में सोशल डिस्टेसिंग रखें

डीआरएम राजेश अग्रवाल ने बताया कि कोविड की दूसरी लहर का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। इसके बावजूद भारतीय रेल अपने प्रयास में लगी हुई है कि किसी भी यात्री को आवागमन में कोई दिक्कत न आए। कोविड से बचाव को आवश्यक सुरक्षात्मक उपायों का पालन करना है।

अतः सभी यात्रियों से अनुरोध है कि वे यात्रा से पूर्व कोविड टेस्ट अवश्य करा लें, जिससे उनके साथ-साथ उनके साथ बैठे सहयात्रियों को भी संतुष्टि होगी और यात्रा के दौरान जहां कहीं भी वे जा रहे हों अपने आरंभिक स्टेशन पर टिकट के साथ कोविड सर्टिफिकेट दिखाकर गंतव्य स्थान के लिए रवाना हो सकते हैं। पंजाब सरकार ने 2 मई को जो दिशा-निर्देश जारी किए थे, उसके अनुसार अमृतसर स्टेशन पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड संक्रमण की जांच कार्रवाई प्रारंभ हुई है। जो यात्री पंजाब के क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं उनका टेस्ट करना आवश्यक है लेकिन जो यात्री यहां से जिस गंतव्य पर जा रहे हैं वह उस गंतव्य राज्य के प्रोटोकॉल के नियंत्रण में आते हैं।

उनका टेस्ट करना उतना अनिवार्य नहीं है। इसी तरह जम्मू एवं कश्मीर में बाहर से आने वाले यात्रियों का शत-प्रतिशत कोविड टेस्ट किया जाता है लेकिन जाने वाले यात्रियों का कोविड टेस्ट नहीं किया जाता है। हम अपने संसाधनों को इस महामारी से रोकथाम के लिए भली प्रकार उपयोग कर सकते हंै। मंडल रेल प्रबंधक ने बताया कि इस दिशा में भारतीय रेलवे ने भी आवश्यक कदम उठाते हुए जिन ट्रेनों में रेल यात्रियों की संख्या अत्यंत कम हो गई हैं, उनको बंद करने का निर्णय लिया है। यह भी महामारी की रोकथाम की दिशा में लिया गया कदम है।

खबरें और भी हैं...