पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नाबालिग से गैंगरेप:मां सी नहीं ‘मासी’, 10 हजार रुपए लेकर भांजी को नौकरी का झांसा दे; दो लोगों के साथ भेजा, 4 ने रातभर किया दुष्कर्म

फिरोजपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़िता ने प्रेस क्लब में कांफ्रेंस कर पुलिस से सभी आरोपियों को पकड़ने की मांग की। - Dainik Bhaskar
पीड़िता ने प्रेस क्लब में कांफ्रेंस कर पुलिस से सभी आरोपियों को पकड़ने की मांग की।
  • 5 व्यक्तियों पर पॉक्सो एक्ट का केस, मौसी गिरफ्तार, 4 फरार

शहर में एक नाबालिगा से गैंगरेप का मामला सामने आया है। यहां रिश्तों को तार-तार करते हुए एक मौसी ने ही 10 हजार रुपए लेकर अपनी ही नाबालिग भांजी को नौकरी लगवाने की बात कहकर दो लोगों के साथ बाइक बैठाकर भेज दिया। उक्त दोनों आरोपी नाबालिगा को शहर की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में ले गए। जहां पर पहले से ही दो लोग मौजूद थे। उक्त बाइक सवार दो आरोपियों और पहले से मौजूद लोगों ने पूरी रात नाबालिगा से दुष्कर्म किया। अगले दिन सुबह पीड़ित लड़की किसी तरह मौका पाकर वहां से भाग निकली और घर आकर उसने अपनी दूसरी मौसी को अपने साथ बीती पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया। साथ ही पुलिस को भी शिकायत दी गई। इसके बाद शहर की थाना पुलिस ने नाबालिगा के बयान लेकर उसकी मौसी और चारों दुष्कर्म आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज तलाश शुरू कर दी है। मौसी को गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़िता की जुबानी...बाइक पर बिठा हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी ले जा किया रेप, सुबह किसी तरह भागी

सभी आरोपियों को सलाखों के पीछे डाले पुलिस : पीड़िता

पुलिस को दिए बयानों में नाबालिग पीड़िता ने बताया कि उसकी मां उसके पिता की हत्या के आरोप में फिरोजपुर की केंद्रीय जेल में बंद है। वह छोटे भाई बहनों के साथ नानी के पास रह रही है। बीती मंगलवार रात को करीब 8.30 बजे मौसी राणो, छोती उर्फ पुरुषोत्तम लाल व नन्ना उसे नौकरी की बातचीत करने के बहाने शहर की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के एक क्वार्टर में ले गए। बलजिंदर सिंह निवासी फिरोजपुर शहर और एक अज्ञात व्यक्ति वहां पहले से मौजूद थे। वहां कमरा बंद कर बलजिंदर सिंह, एक अज्ञात व्यक्ति, नन्ना व छोती उर्फ पुरुषोत्तम लाल ने पूरी रात दुष्कर्म किया। अगले दिन सुबह करीब 6:30 बजे मौका देख वहां से भागी और घर आ दूसरी मौसी को सारी घटना बताई। इसके बाद उसे फिरोजपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराकर सूचना पुलिस को दी गई। पीड़िता ने प्रेस क्लब में कांफ्रेंस कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की व कहा कि आरोपी बलजिंद्र सिंह खुद को बेकसूर बताकर बचना चाह रहा है। पुलिस जल्द कार्रवाई कर आरोपियों को सलाखों के पीछे डाले ताकि उसे इंसाफ मिल सके।

फरार आरोपियों की तलाश में की जा रही रेड : थाना प्रभारी

वहीं, मामले की जांच अधिकारी वुमेन सेल थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर रजवंत कौर ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल करवाने के बाद उसके बयानों पर उसकी मॉसी नाहन उर्फ राणों पत्नी इकबाल सिंह निवासी बस्ती टैंकावाली, छोती उर्फ पुरुषोत्तम निवासी गवाल टोली, नन्ना, बलजिंद्र सिंह निवासी बस्ती भट्टियां वाली व एक अज्ञात सहित 5 लोगों के खिलाफ थाना सिटी में 376-डी, 323,120- बी आईपीसी व पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी राणों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, बाकी आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

इधर, एक आरोपी ने वीडियो वायरल कर लगाया आरोप

घटना के वक्त वह शहर से बाहर था, मुझे राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया

वहीं, पुलिस की ओर से नाबालिग पीड़िता के बयानों के आधार पर नामजद किए गए एक आरोपी बलजिंद्र सिंह ने सोशल मीडिया पर अपनी एक वीडियो जारी कर कहा है कि उसे राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया है। क्योंकि, वह जब से किसान आंदोलन शुरू हुआ है तब से किसानों के हकों के लिए लड़ रहा है। जिस समय का यह घटनाक्रम बताया गया है उस वक्त तो वह फिरोजपुर में ही नहीं था। वह दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन से फिरोजपुर आ रहा था। रास्ते में पड़ते टोल प्लाजा की पर्चियां और होटल के खाने के बिल सहित अन्य दस्तावेज उसके पास हैं। वह यह सब लेकर उच्चाधिकारियों तक जाएगा। उसने आरोप लगाया कि उन पर यह मामला राजनीतिक साजिश के तहत दर्ज किया गया है, जिसे लेकर किसान यूनियन भी उसके साथ लड़ेंगी। अगर पुलिस ने जल्द ही मामले में से उसका नाम नहीं निकाला तो 11 मई को शहर थाना का घेराव किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...