पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पहल:46 लाख से बनेगा वन स्टॉप सेंटर, 4 माह में होगा तैयार

फिरोजपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सामाजिक सुरक्षा एवं महिला बाल विकास विभाग ने अपने नए भवन का निर्माण कार्य किया शुरू

कपिल सेठी, ​​​​​​घरेलु हिंसा, सामाजिक अत्याचारों व रेप जैसी पीड़ाओं से पीड़ित महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए अब शहर के सिविल अस्पताल में सामाजिक सुरक्षा एवं महिला बाल विकास विभाग की ओर से सखी वन स्टॉप सेंटर के अपने नए भवन का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है।

मौजूदा हाल में सिविल अस्पताल में जच्चा-बच्चा विभाग की दूसरी मंजिल पर चल रहे सेंटर में न्याय की आस लिए पीड़ित महिलाएं पहुंचकर सेंटर की ओर से दी जा रही सेवाओं का लाभ ले रही हैं। वर्ष 2018 में खोला गया सखी सेंटर प्रदेश में सबसे अधिक केस निपटाने में अव्वल स्थान पर है।

अब विभाग की ओर से सेंटर के अपने नए भवन का निर्माण कार्य शुरू करवा दिया गया है जोकि करीब 4 माह में पूरा होगा। करीब 46 लाख रुपए की लागत से बन रहे वन स्टॉप सेंटर के अप्रैल माह में बनकर तैयार होने की संभावना है जिसके बाद सेंटर में कोई भी पीड़ित महिला किसी भी समय अपनी फरियाद लेकर वहां जा सकती हैं। सेंटर में विशेष तौर पर सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर की रिहायश की व्यवस्था की गई है ताकि किसी भी समय सेंटर में पहुंचने पर उसे किसी तरह की कोई परेशानी न हो।

सखी सेंटर का नवनिर्मित भवन 300 स्क्वायर मीटर में बनकर तैयार होगा जिसमें ग्राउंड फ्लोर पर एक ऑफिस कम वीडियो कांफ्रेंस रूम, 1 एडमिनिस्ट्रेटिव रूम, 1 काउंसलर व मेडिकल कंसल्टेंट रूम, 2 टॉयलेट, 5 बेड का शॉर्ट शेल्टर, 1 पेंट्री बनेगा। वहीं भवन की पहली मंजिल पर सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर की रिहायश होगी जिसमें 2 रूम, 1 पेंट्री, 1 टायलेट बनकर तैयार होगा। डीपीओ रत्नदीप कौर संधु ने बताया कि फिलहाल सिविल अस्पताल के भवन में चल रहा सखी सेंटर प्रदेश में महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों व अन्य पीड़िताओं के मामले सुलझाने में प्रदेश में अव्वल स्थान पर है।

वहीं इस बारे में सेंटर एडमिनिस्ट्रेटर रीतू पलटा ने बताया कि सेंटर में आने वाले ज्यादातर मामलों में सेंटर टीम की ओर से पारिवारिक सदस्यों को बुलाकर उनकी आपसी सहमति से मामलों को सुलझाने की हर संभव कोशिश की जाती है। ज्यादातर मामले आपसी सहमति से हल हो जाते हैं कुछ केसों में पुलिस सहायता की जरूरत पड़ती है तो उनमें पुलिस सहायता लेकर मामलों का निपटारा किया जाता है।

उन्होंने महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि कोई भी महिला किसी भी प्रकार से पीड़ित है तो वह न्याय पाने के लिए दर-दर भटकने की बजाए सखी सेंटर आए व अपनी समस्या बताए । सखी सेंटर टीम की ओर से मामले का हल निकालने की हर संभव कोशिश की जाएगी अगर आपसी बातचीत से उसका निपटारा नहीं होता है तो सेंटर की ओर एडवोकेट की बिना फीस व्यवस्था करवाई जाएगी ताकि पीड़ित को न्याय मिल सके।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser