लापरवाही का आरोप:बस का शीशा टूटने पर सवारियों को उतारा, टूटे शीशे को चालक ने गिराया; नीचे खड़े युवक को आई चोट

गिद्दड़बाहा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीआरटीसी बस के स्टाफ पर लगाए लापरवाही के आरोप

गिद्दड़बाहा निवासी शुभम बांसल पुत्र भीम बांसल ने पीआरटीसी की बस के स्टाफ पर लापरवाही के आरोप लगाए हैं। पत्रकारों के साथ बातचीत करते शुभम बांसल ने बताया कि वह चंडीगढ़ जाने के लिए बठिंडा से पीआरटीसी की बस (पीबी02 डीक्यु 9795) में सवार हो गया। सफर शुरू होने से करीब एक घंटा बाद बस कडंक्टर को बस का पिछला शीशा टूटा होने का एहसास हुआ और उसने चालक को बस रोकने के लिए कहा और सवारियों को अन्य बस द्वारा रवाना होने का कहा।

शुभम बांसल ने बताया कि वह अभी बस से उतर ही था कि बिना किसी आगामी सूचना के बस चालक ने बस के शीशे को धक्का मार दिया जो सड़क पर गिर गया और उसके बस के नजदीक खड़े होने के कारण शीशे का कुछ हिस्सा उसकी बाजू पर गिर पड़ा, इस कारण बाजू पर चोट लग गई और जब उसने बस के चालक और परिचालक से फस्ट एड बॉक्स की मांग की तो उन्होंने कहा कि यह हमारे पास मौजूद नहीं है। शुभम बांसल ने बताया कि इस दौरान बस स्टाफ में से किसी ने उसकी बात नहीं सुनी और उन्होंने इस मामले की ऑनलाइन शिकायत कार्यकारी इंजीनयर-कम-नोडल अफसर पटियाला को की परन्तु उन्होंने कहा कि उक्त नंबर की बस पीआरटीसी फ्लीट की नहीं है, इसलिए वह कोई कार्रवाई नहीं कर सकते। शुभम बांसल ने पंजाब सरकार से बस स्टाफ के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...