मुक्तसर / गर्भवती महिलाएं 1 जून से घर बैठे ले सकेंगी गायनाेकोलॉजिस्ट की सलाह

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

फिरोजपुर. कोविड-19 के तहत अस्पतालों में सामाजिक दूरी रखने तथा भीड़ न होने देने के लिए पंजाब सरकार तथा सेहत विभाग की तरफ से ई-संजीवनी ओपीडी शुरू की गई है। ई-संजीवनी ओपीडी संबंधी जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ. हरिनारायण ने बताया कि अस्पतालों में भीड़ को रोकने के लिए टेलीमेडिसिन प्रोग्राम मरीजों के लिए वरदान साबित होगा। क्योंकि बहुत सारे लोगों को डॉक्टरी सलाह की जरूरत होती है।

सरकारी अस्पताल के माहिर डॉक्टरों से मरीज यह सेवाएं सुबह 10 से दोपहर एक बजे तक ले सकते हैं। सेहत विभाग अब ई संजीवनी स्कीम के तहत आम बीमारियों के अलावा जच्चा-बच्चा सेहत संभाल सेवाओं को यकीनी बनाने के लिए एक जून से गाइनाेलॉजी सेवाएं मुहैया करवाने की शुरूआत की जा रही है। गर्भवती महिलाओं की गर्भ अवस्था की प्रथम तिमाही तक अस्पताल में बीमारी लगने का खतरा रहता है। जिससे की उनको अस्पताल में आने से परहेज करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि यह सेवा गर्भवती महिलाओं के लिए लाभकारी होगी। गायनोकोलॉजी सेवाओं की माहिर डॉक्टर द्वारा सोमवार से शनिवार सुबह आठ बजे से 9.30 बजे तक उपलब्ध होगी। नोडल अधिकारी डॉ. रंजू सिंगला ने लोगों को अपील की है कि वह घर बैठे ही इन सेवाओं का अधिक से अधिक लाभ लें।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना