आक्रोश:6वें वेतन आयाेग के विरोध में प्रदर्शन कर रही है जत्थेबंदी, कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियर ने दिया धरना

मुक्तसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डिप्लोमा इंजीनियर्स ने सरहंद फीडर की लाइनिंग का काम किया बंद

पंजाब सरकार के 6वें वेतन आयाेग का विरोध कर रही कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियर्स जत्थेबंदी की ओर से मंगलवार को कोटकपूरा मुक्तसर नेशनल हाईवे पर सरहंद फीडर नहर की लाइनिंग के चल रहे कार्य को बंद करके सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। सुबह 11 बजे से दोपहर करीब 3 बजे तक दिए गए धरने के दौरान जल स्राेत विभाग के इंजीनियर की ओर से राजस्थान फीडर व सरहंद फीडर का कार्य बंद करके पूर्ण बॉयकाट किया गया। कौंसिल के चेयरमैन इंजीनियर सुखमिंदर सिंह लवली ने कहा कि नहरों के निर्माण कार्य का बॉयकाट तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार उनकी जायज मांगें नहीं मानती। अगर किसानों को गेहूं की बिजाई एवं जल घरों को सप्लाई के लिए पानी नहीं मिलता तो इसके लिए सरकार जिम्मेवार होगी। इस अवसर पर कौंसिल के राज्य नेता कर्मजीत सिंह, सीनियर नेता कर्मजीत सिंह खोखर सहित विभिन्न जिलों के इंजीनियर भी मौजूद थे।

कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियरों ने अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को कोटकपूरा रोड स्थित सरहंद फीडर नहर पर धरना लगाकर लाइनिंग का चल रहा कार्य बंद कर दिया। इस संबंधी जानकारी देते हुए कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियरों के सदस्यों ने बताया कि नहर की रिपेयर का प्रोजेक्ट 225 करोड़ रुपए का है जोकि 35 दिनों में पूरा किया जाना था, लेकिन कौंसिल ऑफ डिप्लोमा इंजीनियरों के धरने के चलते इस काम को बंद कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इंजीनियरों की ओर से यह कार्य पूर्ण तौर पर बंद किया हुआ है, परंतु ठेकेदार अपने तौर पर थोड़ा बहुत कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं की जाती तब तक उनकी ओर से यह कार्य चालू नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभी इस कार्य को शुरू हुए करीब एक सप्ताह ही हुआ था।

खबरें और भी हैं...