पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विशेष मीटिंग:पराली प्रबंधन के लिए मशीनरी खरीदने पर मिलेगी सब्सिडी

फरीदकोट12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब सरकार द्वारा पर्यावरण संरक्षण, जमीन की उपजाऊ शक्ति को बढ़ाने और मानवीय सेहत व जानवरों पर पराली के धुएं से होने वाले नुकसान आदि से बचाने के लिए अधिक से अधिक किसानों और आम लोगों को प्रदूषण ना फैलाने संबंधी जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा किसानों, किसान ग्रुपों, सहकारी सभाओं, पंचायतों को पराली प्रबंधन के लिए मशीनरी खरीदने के लिए बड़ी स्तर पर सब्सिडी मुहैया करवाई जा रही है।

यह जानकारी डिप्टी कमिशनर विमल कुमार सेतिया ने पराली प्रबंधन और पराली को आग न लगाने संबंधित किसानों को जागरूक करने के लिए अलग-अलग विभागों के अधिकारियों के साथ विशेष मीटिंग के बाद दी। डीसी ने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से पराली प्रबंधन के लिए पिछले कुछ सालों से बड़े प्रयास किए जा रहे हैं और पराली को आग न लगाने और इसके साथ इस के धुएं से मानवीय सेहत, जानवरों और वातावरण पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों प्रति जागरूक किया जा रहा है। वहीं पराली प्रबंधन के लिए किसानों को निजी मशीनरी खरीदने के लिए किसान ग्रुपों, सहकारी सभाओं और पंचायतों के द्वारा खेती मशीनरी खरीदने के लिए 50

प्रतिशत से 80 प्रतिशत तक अनुदान के लिए सब्सिडी मुहैया करवाई जा रही है। डीसी ने कहा कि जिले में जैतो सब डिवीजन के गांव सेढा सिंह वाला में पराली प्रबंधन के लिए बिजली प्लांट है और किसान अपनी पराली की बेलर से गांठें बनाकर भी इसको बिजली प्लांट पर बेच सकता है। इसके अलावा पराली प्रबंधन के लिए सुपर सीडर, हैपी सीडर, सुपर एसएमएस, स्टराय चोपर, मलचर, क्रॉप रीपर, बेलर का प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने

कहा कि जिले में कोई भी किसान या कंबाइन मालिक सुपर एसएमएस के बिना वाली कंबाइन पर धान की कटाई न करवाएं। इस माैके पर बलजीत सिंह कैंथ डीडीपीओ, सलोध बिशनोयी जिला मंडी अफसर सहकारी विभाग, प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारी, कृषि विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...