ओमीक्रोन:सावधानियाें का प्रयोग कर कोरोना की तीसरी लहर से बचा जा सकता है- सिविल सर्जन डॉ. रंजू सिंगला

मुक्तसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उन्होंने बताया कि बाजारों में देखने में आया कि कोई भी व्यक्ति मॉस्क नहीं पहन रहा व सामाजिक दूरी का ध्यान नहीं रखा जा रहा

सिविल सर्जन डॉ. रंजू सिंगला ने कोरोना के नए रूप ओमीक्रोन वॉयरस के बारे जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना एक घातक बीमारी है व कई देशों में कोरोना का नया स्वरूप ओमीक्रोन के रूप में आ गया हैं। हमारे देश में भी इस वॉयरस ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। कुछ शहरों में इस वॉयरस के केस पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से समय -समय जारी हिदायतों व सावधानियों का पालन किया जाए।

उन्होंने बताया कि बाजारों में देखने में आया कि कोई भी व्यक्ति मॉस्क नहीं पहन रहा व सामाजिक दूरी का ध्यान नहीं रखा जा रहा। सावधानियाें के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण की दोनों खुराकें भी लगवानी जरूरी हैं। सेहत विभाग की ओर से शहरों व गांवों में टीकाकरण के कैंप लगाए जा रहे हैं। डॉ. रंजू सिंगला ने आम लोगों को अपील की है कि जिन लोगों की दूसरी खुराक लगनी बाकी है वह अपने नजदीक के टीकाकरण कैंप से टीकाकरण जरूर करवाएं। उन्होंने अपील की है कि इस तीसरी लहर से बचने के लिए टीकाकरण करवाकर व सावधानियां प्रयोग करके जिला प्रशासन व सेहत विभाग सहयोग दिया जाएं। इस समय डॉ. किरनदीप कौर, प्रभजीत सिंह, सुखमंदर सिंह, गुरचरण सिंह, विनोद खुराना उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...