पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:15 माह से वेतन न मिलने से खफा बीएसएनएल के 3 कांट्रेक्ट वर्कर्स एक्सचेंज के टावर पर चढ़े

फिरोजपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बोले-राशन उधार देने वाले मांग रहे हैं पैसा; सैलरी दो नहीं तो कूदकर दे देंगे जान

लंबे समय से कम्यूनिकेशन सेक्टर में लचर सर्विस के चलते दिन-प्रतिदिन गिरावट में जा रही बीएसएनएल के खिलाफ अब कर्मियों ने विरोध का बिगुल बजा दिया। यहां तक की अब जान को हथेली पर रखकर वेतन की मांग उठने लगी है। 15 माह से बिना वेतन काम कर रहे बीएसएनएल के कर्मचारियों को आर्थिक तंगी के चलते अब मानसिक परेशानी भी होने लगी है।

इसी के चलते मंगलवार को अपने वेतन की मांग को लेकर 3 कर्मचारी करीब 4 घंटे तक 50 फुट ऊंचे टावर पर चढ़े रहे। कर्मियों ने टावर पर चढ़ने के बाद लाइव होकर वीडियो संदेश दिया कि या तो उन्हें वेतन दिया जाए नहीं तो वह कूदकर अपनी जान दे देंगें। वेतन न मिलने के चलते कर्मी कई बार वेतन की मांग को लेकर रोष प्रदर्शन कर चुके हैं।

मंगलवार को बीएसएनएल केजुअल कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन के बैनर तले कांट्रेक्ट कमियों ने रोष प्रदर्शन किया। रोष प्रदर्शन के दौरान कांट्रेक्ट कर्मियों में 3 कर्मी बीएसएनएल के विरोधस्वरूप एक्सचेंज के भीतर लगे टावर पर करीब 50 फुट ऊपर जा चढ़े गए। उन्होंने कहा कि पैसा न होने के चलते कहां से उधारी उतारें इससे अच्छा है कि वह यहां से कूद जाएं।

आदेशों का उल्लंघन..धरना देने वाले 4 लोग नामजद

प्रदेश सरकार की ओर से सोमवार देर रात से कहीं भी धरने-प्रदर्शन पर रोक लगाई गई थी, बावजूद इसके बीएसएनएल कर्मचारियों ने रोष प्रदर्शन किया, जिसके चलते थाना कैंट पुलिस ने कार्रवाई हुए टावर पर चढ़े तीन युवकों, जिसमें गोल्डी, धर्मपाल, गुरदीप सिंह व एक अन्य सुरजीत सिंह इन चार लोगों को नामजद करते हुए कुछ अज्ञात लोगों पर सरकार के आदेशों का उल्लंघन करने का केस दर्ज किया है।

जीएम से बैठक कर एक माह के अंदर वेतन देने की बात के बाद टॉवर से उतरे

इस बारे में जैसे ही बीएसएनएल अधिकारियों को सूचना मिली उन्होंने पहले उनसे बात की, मगर कोई बात नहीं बनी तो पुलिस व जिला प्रशासनिक अधिकारियों को सूचित किया गया। उक्त कर्मी करीब 4 घंटे तक टावर पर चढ़े रहे व अपनी जिद्द पर अड़े रहे। अधिकारियों की ओर से पुलिस को सूचित किए, लेकिन कोई बात नहीं बनी।  इसके बाद तहसीलदार मौके पर पहुंचे व उन्होंने यूनियन के पदाधिकारियों की बीएसएनएल जीएम से मीटिंग करवाई, जिसमें जीएम की ओर से एक माह के भीतर उनके वेतन का प्रबंध करने का आश्वासन दिया जिसके बाद उक्त कर्मी टावर से नीचे उतरे।
वेतन न मिलने से 100 कर्मी छोड़ चुके हैं नौकरी
एसएसए फिरोजपुर से संबंधित 5 जिलों मुक्तसर, फाजिल्का, मोगा, फरीदकोट व फिरोजपुर के करीब 300 कांट्रेक्ट कर्मी टेलिफोन मेंटेंनैंस, ब्राडबैंड मैंटेनेंस व एक्सचेंज की सुरक्षा का कार्य कर रहे थे। बीते करीब 15 माह से इन कर्मियों को वेतन न मिलने के चलते करीब 100 कर्मचारी अपनी नौकरी छोड़ चुके हैं।

वेतन की समस्या को लेकर मुख्यालय को लिखेंगे
बीएसएनएल के जीएम प्रताप नारायण ने कहा कि बीते कुछ समय से मुख्यालय से पेमेंट काफी कम आने के चलते कर्मचारियों को कम वेतन मिलने से परेशानी हुई है। उन्होंने कहा कि जितना कर्मचारियों को जो सैलरी ठेकेदार को दी जाती है। कर्मचारियों से बात की है। वेतन की इस समस्या को लेकर वह मुख्यालय को लिखेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें