छिंदर कौर बोलीं / ऑल पंजाब आंगनबाड़ी यूनियन ने सरकार से मांगें मनवाने काे बिगुल बजाया

X

  • राज्यभर की 54 हजार आंगनबाड़ी वर्कर और हेल्पर मांगें मनवाने के लिए कर रहीं संघर्ष

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:32 AM IST

जलालाबाद. भारतीय आंगनबाड़ी वर्कर, हेल्पर यूनियन ने जलालाबाद की प्रधान छिंदर कौर इकवन ने प्रैस नोट जारी करते बताया कि राज्य भर की 54 हजार आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने मांगों की खातिर पिछले लंबे समय से सरकार से टक्कर ले रखी हैं। ऑल पंजाब आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन ने अपनी जायज मांगें केंद्र और पंजाब सरकार द्वारा मनाने के लिए संघर्ष करने का एलान किया है और जत्थेबंदी के साथ जुड़ी आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों ने अपील की है कि वह जत्थेबंदी की तरफ से दिए गए प्रोग्राम में अधिक से अधिक शमूलियत करें ताकि सोई हुई अपनी, सरकारें जाग सकें।

यूनियन के ब्लॉक प्रधान ने बताया कि प्रांतीय समिति के फैसले के अनुसार 1 जून से 4 जून तक 22 जिलों में जिला स्तरीय मीटिंग की जाएंगी, जबकि 5 जून से 10 जून तक राज्य भर के सभी ब्लॉकों में रोष प्रदर्शन करके प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री, विभाग मंत्री और डायरेक्टर के नाम मांग पत्र भेजे जाएंगे। प्रांतीय प्रधान ने दोष लगाया कि अगर लंबे समय केंद्र सरकार और राज्य सरकार आंगनबाड़ी वर्करों हेल्परों के साथ सौतेली मां वाला सलूक कर रही हैं और उनकी जायज मांगों को अनदेखा किया जा रहा है और उनकी मांग है कि आंगनबाड़ी वर्करों और हेल्परों को सरकारी कर्मचारी समझा जाए, आंगनबाड़ी वर्करों को प्री-नर्सरी टीचर का दर्जा दिया जाए।

पंजाब सरकार ने वर्करों के जो 600 व 300 रुपए काटे हैं वह पैसे दिए जाने पर अप्रैल 2018 के काटे हुए पैसे भी दिए जाएं और क्रैच वर्करों और हेल्परों की दो सालों से रुकी तनख्वाह दी जाए और सूबे के सभी वर्करों हेल्परों को हर महीने समय पर तनख्वाह दी जाए, अगर उनकी उक्त मांगें न मानी गई तो वह संघर्ष करने के लिए मजबूर होंगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना