पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धान की बिजाई:पानी की कमी के कारण नहरी पानी बचाओ संघर्ष कमेटी ने सरकार को घेरा

जलालाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी आदेशों पर 10 जून से धान लगाया, पर अभी तक नहीं पहुंचा पानी

धान लगाने का काम अंतिम चरण तक पहुंच गया है, परंतु दूसरी तरफ किसान नहरों में पानी न आने कारण सरकार को कोस रहे हैं। नहरी पानी बचाओ संघर्ष कमेटी के जिला प्रधान और किसान नेता गुरविन्दर सिंह मन्नेवाला, भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहा ग्रुप के जिला उपाध्यक्ष गुरमीत सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार अपने किए वायदों से भाग रही है और अपनी तरफ से कही किसी भी बात पर पूरा नहीं उतर रही।

गुरविन्दर सिंह मन्नेवाला ने कहा कि सरकार ने किसानों के साथ वायदा किया था कि किसान 10 जून से धान की बिजाई करें और नहरी पानी लगातार मुहैया करवाया जाएगा। आज धान की बिजाई शुरू हुए एक महीना होने वाला है, परन्तु किसी भी नहर का पानी टेलों तक नहीं पहुंचा है। किसानों बताया कि निजामवाह डिस्ट्रीब्यूटर, फैजवाह, बरकतवा, निधाना माइनर, जलालाबाद ब्रांच, लाधूका मेन ब्रांच और अन्य नहरें जलालाबाद फाजिल्का के खेतों को पानी देती हैं परन्तु इन नहरों की टेलों तक पानी नहीं पहुंच रहा। जिस कारण किसानों को धान की बिजाई करने में बहुत दिक्कत आ रही है।

किसान नेताओं ने कहा कि हमारी नहरें सभी ही छिमाही हैं इन में सिर्फ धान के सीजन में दो महीने पानी छोड़ा जाता है। वे भी पूरी तरह किसानों को नहीं मिलता। बार-बार नहरों की बंदी कर दी जाती है। किसानों ने आज प्रदर्शन करते पंजाब सरकार और नहरी विभाग खिलाफ कर नारेबाजी की और किसानों को कहा कि यदि किसानों को नहरी पानी पूरा न दिया गया तो किसान संघर्ष करने के लिए मजबूर होंगे। इस अवसर पर किसान, शेर सिंह चक्क सैदोका, बलविन्दर सिंह चक्क सैदोका, राम नारायण अादि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...