लहरागागा / भाकियू (एकता उगराहां) ने एसडीएम दफ्तर के समक्ष की नारेबाजी

लहरागागा में एसडीएम दफ्तर के समक्ष धरना दे नारेबाजी करते किसान। लहरागागा में एसडीएम दफ्तर के समक्ष धरना दे नारेबाजी करते किसान।
X
लहरागागा में एसडीएम दफ्तर के समक्ष धरना दे नारेबाजी करते किसान।लहरागागा में एसडीएम दफ्तर के समक्ष धरना दे नारेबाजी करते किसान।

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

लहरागागा. भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां की ओर से केन्द्र सरकार द्वारा जारी खेती अध्यादेश को रद्द करवाने के लिए एसडीएम दफ्तर के समक्ष धरना दिया गया। इस मौके पर ब्लाॅक प्रधान धरमिंदर  सिंह पिशौर, जिला नेता बहाल सिंह, गुरचरण सिंह, सूबा सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए मुफ्त इलाज समेत गांव गांव जरूरी प्रबंध करने की जिम्मेवारी तो मोदी सरकार ने नजरअंदाज की हैँ, परंतु 5 जून को तीन किसान विरोधी अध्यादेश भी जारी कर दिए हैं। 

इसके जरिए सरकार एक मंडी एक देश के नारे तले सरकारी मंडीकरण सिस्टम को खत्म करके फसलों की खरीद निजी कंपनियों और बड़े व्यापारियों को सौंपने जा रही है। वहीं, सरकार बिजली संशोधन बिल के जरिए बिजली ढांचा निजी कंपनियों को साैंपने जा रही है, जिससे किसानों को मिल रही सब्सिडी खत्म हो जाएगी।

उन्होंने मांग की कि तीनों अध्यादेश वापिस लिए जाए। बिजली संशोधन बिल 2020 को रद किया जाए। डीजल पैट्रोल के दामों में की गई बढ़ोतरी वापिस ली जाए। किसानों मजदूरों का पूरा कर्ज माफ किया जाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना